स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जेकेके को महानिदेशक और अकादमियों को चेयरमैन का इंतजार

Anurag Trivedi

Publish: Sep 04, 2019 19:46 PM | Updated: Sep 04, 2019 19:46 PM

Patrika plus

सरकार बदलने के बाद भी नहीं हुई नियुक्तियां, कार्यक्रम और प्लानिंग पर पड़ रहा है असर, अतिरिक्त प्रभार पर प्रशासनिक अधिकारी, जेकेके में गवर्निंग बॉडी तक नहीं बदली

जयपुर. इंटरनेशनल आर्ट सेंटर के रूप में पहचाने जाने वाले जवाहर कला केंद्र को सरकार बदलने के बाद से अब तक अपने स्थाई महानिदेशक की नियुक्ति का इंतजार है। जेकेके में जहां महानिदेशक का, वहीं प्रदेश की सभी सरकारी अकादमियों को चेयरमैन का इंतजार है। इन पदों के रिक्त होने से न केवल प्रशासनिक कार्यांे में, बल्कि कार्यक्रम आयोजनों की भी प्लानिंग करने में समस्या आ रही है। अभी इन सभी पदों पर विभाग के प्रशासनिक अधिकारियों को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। प्रदेश के कलाकारों, साहित्यकारों और कला प्रेमियों को लम्बे समय से इन पदों पर नियुक्तियों का इंतजार है। जवाहर कला केंद्र में तो अब तक गवर्निंग काउंसिल को भी नहीं बदला है और यह काउंसिल सिर्फ कागजों तक ही चल रही है। इस साल अब तक इनकी एक भी बैठक नहीं हुई है।
इन अकादमियों में हो रहा है इंतजार

कला, संस्कृति विभाग से जुड़ी सभी अकादमियों को चेयरमैन का इंतजार है, इन सभी अकादमियों में राजनैतिक स्तर पर नियुक्तियां होती है। इन अकादमियों में राजस्थान साहित्य अकादमी, उर्दू अकादमी, संस्कृत अकादमी, बृजभाषा अकादमी, ललित कला अकादमी, संगीत नाटक अकादमी, सिंधी भाषा अकादमी, पंजाबी अकादमी में पद रिक्त होने पर अतिरिक्त प्रभार पर कार्य सौंपा गया है। कई अकादमियों में सचिव पद पर भी नियुक्ति नहीं हुई है, एक ही अकादमी के सचिव को तीन-चार अकादमियों की जिम्मेदारी दी गई है।
जेकेके में कब आएंगे डीजी और एडीजी

जवाहर कला केंद्र में पिछले कुछ महीनों से महानिदेशक और अतिरिक्त महानिदेशक (तकनीकी) के पद के लिए नियुक्ति आदेश नहीं निकले हैं। इन दोनों पदों पर कलाकारों की नियुक्ति होती है और इसके लिए सरकार कलाकारों से आवेदन लेती और इंटरव्यू के बाद इन पदों पर नियुक्ति दी जाती है। इन पदों पर कलाकार नियुक्त नहीं होने से इंटरनेशनल इवेंट्स में कमी आई है। सरकार की तरफ से जेकेके को करोड़ों का बजट तो आवंटित किया जा रहा है, लेकिन पिछले कुछ महीनों से यहां इंटरनेशनल लेवल के एक भी इवेंट आयोजित नहीं हुए हैं।