स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर के थिएटर ग्रुप ने गाजियाबाद में जीते 13 पुरस्कार

Anurag Trivedi

Publish: Jul 17, 2019 21:20 PM | Updated: Jul 17, 2019 21:20 PM

Patrika plus

नाटकबाज थिएटर दिल्ली की ओर से पद्मश्री डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर की स्मृति में गाजियाबाद में अखिल भारतीय लघु नाटक, नुक्कड़ नाटक, शास्त्रीय व लोक नृत्य प्रतियोगिता आयोजित

जयपुर. नाटकबाज थिएटर दिल्ली की ओर से पद्मश्री डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर की स्मृति में गाजियाबाद में आयोजित अखिल भारतीय लघु नाटक, नुक्कड़ नाटक, शास्त्रीय व लोक नृत्य प्रतियोगिता में जयपुर के थिएटर गु्रप ने १३ पुरस्कार प्राप्त कर नया कीर्तिमान रचा है। जयपुर के ताम्हणकर थिएटर अकादमी की ओर से लघु नाटक 'प्रहरी' व नुक्कड़ नाटक 'तब रमेंगे देवताÓ की प्रस्तुति दी थी और प्रस्तुति के आधार पर विभिन्न कैटेगिरी में ये अवॉर्ड मिले हैं। अकादमी के संस्थापक व निर्देशक हेमचन्द्र ताम्हणकर को रंगमंच के क्षेत्र में सक्रिय योगदान के लिए शैलेन्द्रनाथ श्रीवास्तव सम्मान-2019 से नवाजा गया। 'प्रहरी' नाटक को सर्वश्रेष्ठ लघु नाटक कैटेगिरी में द्वितीय, सर्वश्रेष्ठ आलेख में हेमचन्द्र ताम्हणकर को प्रथम, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में मोहित चंदावत को प्रथम, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के रूप में अरशिया परवीन को द्वितीय और सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता के रूप में प्रिंस अली सिद्दकी को द्वितीय पुरस्कार मिला।

'तब रमेंगे देवता' को इन कैटेगिरी में मिले अवॉर्ड
गाजियाबाद में हुए इस इवेंट में सर्वश्रेष्ठ नुक्कड़ नाटक कैटेगिरी में 'तब रमेंगे देवता' को प्रथम पुरस्कार मिला। वहीं सर्वश्रेष्ठ आलेख के लिए हमेचन्द्र ताम्हणकर को द्वितीय, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के रूप में अरशिया परवीन को प्रथम, सर्वश्रेष्ठ लोगती गायन में प्रथम, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के रूप में अरशिया को द्वितीय, सह अभिनेत्री के रूप में सौम्या होलानी को प्रथम, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में प्रिंस अली सिद्दकी को प्रथम और सह अभिनेता के रूप में आयुष गुप्ता को तृतीय पुरस्कार मिला।