सीमांचल एक्सप्रेस तड़के हाजीपुर के पास दुर्घटनाग्रस्त, सात की मौत, कई जख्मी

Prateek Saini

Publish: Feb 03, 2019 19:42 PM | Updated: Feb 03, 2019 19:42 PM

Patna

एक यात्री का बायां पैर बोगी में लोहे के रॉड में बुरी तरह फंसा था। रॉड को काटकर यात्री को सुरक्षित निकाला जा सका...

(हाजीपुर): राधिकापुर-नई दिल्ली सीमांचल एक्सप्रेस पूर्व मध्य रेलवे के हाजीपुर बछवाड़ा रेल खंड पर तड़के 3.58 बजे सहदेई बुजुर्ग रेलवे स्टेशन के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। ट्रेन की 11 बोगियां पटरी से उतर गईं। दुर्घटना में सात लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। राहत और बचाव कार्य पांच घंटे विलंब से शुरू होने से गुस्साए लोगों ने जमकर पथराव किया। बाद में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ समेत रेलवे का राहत और बचाव दल मौके पर पहुंचा और बचाव कार्य पूरा करने में जुट गया। रेलवे ने मृतकों को पांच लाख और घायलों को पचास हजार मुआवजा देने का ऐलान किया। बिहार सरकार ने भी घायलों को पचास हजार और मृतकों के परिजनों को चार लाख देने की घोषणा की है। रेलवे ने विशेष ट्रेन से यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने जबकि बिहार सरकार ने बसों से पहुंचाने के इंतजाम किए। पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन दोपहर साढ़े बारह बजे तक पूरा कर लिया गया।

 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक दुर्घटना से पूर्व सुबह 3.52 बजे ट्रेन मेहनर रेलवे स्टेशन से गुजरी। तड़के 3.58 बजे सहदेई बुजुर्ग रेलवे स्टेशन पर आकर ट्रेन की ग्यारह बोगियां पटरी से उतर कर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इनमें तीन स्लीपर बोगियां एस-8, एस-9, एस-10, एक जनरल और एक एसी-बी3 नंबर की बोगी है। एक बोगी पूरी तरह पलट गई। दुर्घटना की सूचना मिलते ही वैशाली के डीएम राजीव रौशन और एसपी मानवजनित सिंह ढिंल्लो मौके पर पहुंच गए, जबकि रेलवे का बचाव राहत दल पांच घंटे विलंब से पहुंचा। इससे स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। गुस्साए लोगों ने बचाव दल पर जमकर पथराव किया, इससे थोड़ी देर अफरा-तफरी मच गई। स्थानीय लोग दुर्घटना के तुरन्त बाद मौके पर राहत में जुट गए थे।

 

पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि पटरियों के टूटे होने से हादसा हुआ। मौके पर टूटी पटरी का हिस्सा भी देखा गया। रेलवे के बचाव दल और एनडीआरएफ तथा एसडीआरएफ की टीमों ने बेपटरी हुई बोगियों से घायलों को सुरक्षित बाहर निकाला। एक यात्री का बायां पैर बोगी में लोहे के रॉड में बुरी तरह फंसा था। रॉड को काटकर यात्री को सुरक्षित निकाला जा सका। दुर्घटना में 36 यात्री जख्मी हूए हैं। इनमें मामूली रूप से घायल आठ यात्रियों को सहदेई बुजुर्ग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद जाने दिया गया, जबकि 28 यात्रियों को हाजीपुर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें से गंभीर रूप से घायल तीन यात्रियों को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के इमर्जेंसी वार्ड में ले जाया गया। रेलवे ने गंभीर रूप से जख्मी हुए लोगों को एक एक लाख मुआवजा देने की घोषणा की है। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने फौरन ट्वीट कर घटना के प्रति दुख जताया।

 

इस बीच रेलवे ने हेल्प लाइन नंबर जारी कर दिए हैं।ये नंबर हैं-

पटना-06122202290,2202291,2208892,सोनपुर06158-221645,हाजीपुर-06224272230,

बरौनी-06279-23222,कटिहार-9473198026.