स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सोनभद्र के उभ्भा ग्राम नरसंहार मामले में दो आरोपी गिरफ्तार, जानें क्या है मामला

Anil Singh Kushwaha

Publish: Aug 31, 2019 18:52 PM | Updated: Aug 31, 2019 18:52 PM

Panna

खूनी संघर्ष में 10 लोगों की चली गई थी जान

सिंगरौली. सोनभद्र के उभ्भा गांव में बीते माह 17 जुलाई को जमीनी विवाद में हुए नरसंहार के मामले में सिंगरौली पुलिस ने दो आरोपियों की गिरफ्तारी गढ़वा थाना क्षेत्र से कराई गई है। यह गिरफ्तारी उत्तर प्रदेश पुलिस की निशानदेही पर हुई है। जानकारी के मुताबिक आरोपियों की धरपकड़ में लगी यूपी पुलिस को सूचना मिली थी की घटना में फरार आरोपी सिंगरौली में छुपे हैं। जिसके बाद सोनभद्र पुलिस ने एसपी अभिजीत रंजन से संपर्क किया।

सिंगरौली पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार
एसपी के निर्देश पर एसडीओपी मोरवा डॉ. कृपाशंकर द्विवेदी, टीआई नागेंद्र प्रताप सिंह, विंध्यनगर टीआई मनीष त्रिपाठी व गढ़वा टीआई राम ध्यान द्विवेदी ने पुलिस बल के साथ देर रात बगदरा गांव में घोराबंदी कर दिया। आरोपियों की तलाश शुरू करने के बाद आरोपी तीरथ प्रसाद भुर्तिया पिता राजाराम भुर्तिया निवासी बगदरा व मुन्नीलाल सिंह पिता लोकमानी सिंह निवासी बहरी को गिरफ्तार कर सीओ सिटी डॉ. कृष्ण कुमार पांडेय एवं अनपरा एसआई धर्मेंद्र यादव को सुपुर्द किया।

सोनभद्र पुलिस को सौंपा
गौरतलब है कि बीते माह उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के घोरावल कोतवाली क्षेत्र के उभ्भा गांव में सौ बीघा जमीन के विवाद में ग्राम प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर और उनके लोगों ने आदिवासी परिवार को लाठी-डंडा व बंदूक से हमला कर दिया था। इस खूनी संघर्ष में एक पक्ष के 10 लोगों की जान चली गई। वहीं 26 लोग घायल हो गए थे। दिल को झकझोर देने वाली घटना को संज्ञान में लेते हुए सोनभद्र पुलिस ने 28 लोगों के खिलाफ नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्जकर लिया था। मामले में मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर समेत कई लोग पूर्व में ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं।