स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक पखवाड़े से एक डॉक्टर के भरोसे जिला अस्पताल का एसएनसीयू

Shashikant Mishra

Publish: Nov 21, 2019 15:55 PM | Updated: Nov 21, 2019 15:55 PM

Panna

बुधवार को जिला अस्पताल में बच्चों के एक भी डॉक्टर के अस्पताल में नहीं होने पर वार्ड में राउंड लेने पहुंचे सीएमएचओ

पन्ना. जिला अस्पताल का एसएनसीयू और बच्चा वार्ड में इस समय भारी अव्यवस्था चल रही है। जिला अस्पताल का बच्चा वार्ड एक पखवाड़े से अधिक समय से डॉ. केशरी अकेले सम्हाल रहे हैं। डॉ. प्रदीप गुप्ता के परिवार में विवाह कार्यक्रम होने के कारण चार दिनों तक डॉ. केशरी ने ही एसएनसीयू और बच्चा वार्ड दोनों सम्हाला। तीसरे डॉ. प्रदीप के परिवार में बच्चा होने के कारण वे भी अवकाश पर हैं। इससे इस दिनों जिला अस्पताल में बच्चों के इलाज को लेकर काफी समस्या है। इसी कारण से सुबह बच्चों का इलाज करने के लिए सीएमएचओ डॉ. एलके तिवारी को जिला अस्तपाल आना पड़ा।


गौरतलब है कि जिला अस्पताल की एसएनसीयू के तत्कालीन प्रभारी डॉ. योगेंद्र चतुर्वेदी इस दिनों सस्पेंड चल रहे हैं। इनके अलावा जिला अस्पताल में बच्चों के तीन अन्य डॉक्टर भी हैं ,लेकिन इन दिनों दो डॉक्टरों के आवकाश पर जाने के बाद यहां के हालात बिगड़ गए हैं। बताया गया कि प्रदीप गुप्ता के परिवार में विवाह कार्यक्रम होने से वे अवकाश पर हैं। इसी प्रकार से डॉ. जीतेंद्र खरे के परिवार में डिलीवरी है। इससे जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड और एसएनसीयू की जिम्मेदारी डॉ. रमेश चंद्र केशरी के जिम्मे आ गई है। वे बीते करीब एक पखवाड़े से एनएनसीयू में अकेले ही बच्चों के इलाज का जिम्मा सम्हाले हुए हैं। डॉ. गुप्ता के भी अवकाश पर जाने के बाद उन्होंने एसएनसीयू के साथ ही बच्चा वार्ड की व्यवस्थाओं को भी अकेले ही सम्हाला।


नाकामी छिपाने ले रहे जनसंपर्क विभाग का सहारा
जिला अस्पताल में बच्चों के इलाज की व्यवस्था बेहद बिगड़ी हुई है। करीब एक पखवाड़े से ऐसे ही हालात है। इसके बाद भी जिले में वरिष्ट शिशि रोग विशेषज्ञ और सीएमएचओ ओपीडी के समय में भी अपने क्वार्टर में ही मरीजों को देखते रहते हैं। जिला अस्पताल की ओपीडी में तो वे शायद ही महीने में एक-दो दिन बैठते हों। जिला अस्पताल के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार बुधवार को डॉ. केशरी की नाइट डयूटी होने से दिन के समय जिला अस्पताल में बच्चा वार्ड में डयूटी के लिए एक भी डॉक्टर मौजूद नहीं थे। ऐसे हालात में मजबूरी में सीएमएचओ व शिशिु रोग विशेषज्ञ डॉ. एलके तिवारी वार्डों में बच्चों का इलाज करने के लिए पहुंचे थे। इनके महज एक दिन वार्ड का राउंड लेने पर जिला प्रशासन के जन संपर्क द्वारा विभाग द्वारा नियमित रूप से मरीजों को देखे जाने की खबर प्रकाशित कराकर आम जनता के बीच नाकामी को छिपाने का प्रयास किया जा रह है।

इस समय जिला अस्पताल के शिशिु रोग विशेषज्ञ अवकाश पर हैं। इसलिए डॉ. तिवरी राउंड ले रहे हैं। मैने तो उन्हें आज ही देखा था।
एचएस त्रिपाठी, अस्पताल प्रशासक

[MORE_ADVERTISE1]