स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सगरा बीट में अतिक्रमण का मामला: रेंजर और डिप्टी रेंजर सहित कई अधिकारियों को मिला नोटिस

Anil Singh Kushwaha

Publish: Sep 10, 2019 22:50 PM | Updated: Sep 10, 2019 22:50 PM

Panna

वन विभाग ने मामले में अतिक्रमणकारियों पर एफआईआर के लिए सलेहा थाने में दिया आवेदन

सलेहा/पन्ना. दक्षिण वन मंडल के सलेहा बीट के सगरा रेंज में करीब डेढ़ सौ एकड़ जंगल में कंपा मद से पौधरोपण के लिए ४० हजार गड्ढे खोदे गए थे। जिन्हें पूरकर करीब तीन दर्जन लोगों ने जमीन को जोतकर अतिक्रमण कर लिया था और अपने-अपने क्षेत्र में बाड़ी लगा ली थीं। अतिक्रमण हटाने के बाद यहां चौबीस घंटे वनकर्मियों की तैनाती के बाद भी १६७ आरसीसी के खंभे तोड़ दिए गए थे और २० से २५ बंडल तार चोरी हो गए थे। पत्रिका द्वारा लगातार पूरे मामले को उजागर करने के बाद डीएफओ ने मामले में गंभीर लापरवाही पर रेंजर सलेहा और डिप्टी रेंजर सहित कई लोगों को लापरवाही पर नोटिस जारी किया है।

एफआईआर के लिए सलेहा थाने में दिया आवेदन
गौरतलब है कि सगरा बीट के कक्ष क्रमांक ७२६ में ५० हेक्टेयर में कैंपा मद से पौधरोपण किया जाना था। इसके लिए वन विभाग ने पूर्व का अतिक्रमण हटाकर जंगल साफ करने साथ ही करीब ४० हजार गड्ढ़े खुदवाए थे। इसके बाद मैदानी अमले से ध्यान नहीं दिया और क्षेत्रीय करीब तीन दर्जन असरदार लोगों ने जमीन की जमीन में खोदे गए गड्ढ़ों को पूरकर जुताई कर ली। पत्रिका द्वारा मामले को सबसे पहले प्रकाशित कर जिला प्रशासन और विभाग के आला अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराया है। ताकि वन भूमि पर अतिक्रमण न हो सके।

दो दिन तक चली अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई
मामला प्रकाश में आने के बाद एसडीओ कल्दा हेमंत यादव के नेतृत्व में कल्दा और सलेहा के वन अमले ने सलेहा पुलिस की मौजूदगी में दो दिन तक अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करते हुए वहां पर आरसीसी के पाल गाडकर जाली लगाना शुरूकर दिया था। जमीन पर दोबारा अतिक्रमण नहीं हो इसके लिए आंशिक तौर पर पौधरोपण भी शुरूकर दिया गया था। वन विभाग ने यहां २४ घंटे निगरानी के लिए १५ से १६ वनकर्मियों की तैनाती की थी। इसके बाद भी बीते दिनों अतिक्रमणकारी १६७ आरसीसी के पोल तोड़ दिये और करीब एल लाख रुपए कीमत की २० से २५ बंडल तार चोरी करके ले गए थे। जिसे बेहद गंभीरता से लेते हुए डीएफओ मीना मिश्रा ने रेजर सलेहा, डिप्टी रेंजर सलेहा, बीटगार्ड सगरा, वनपाल सहित अन्य लोगों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

एफआईआर के लिए थाने में दिया आवेदन
बताया गया कि विभाग के आरसीसी खंभे तोडऩे सहित अन्य मामलो को लेकर आरोपियों पर एफआईआर दर्जकरने के लिए वन विभाग की ओर से सलेहा थाने को आवेदन दिया गया है। बताया गया कि वन विभाग के आवेदन पर पुलिस ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की है। पुलिस का कहना है कि जब १५-१६ लोग रखवाल कर रहे थे तो ५-६ लोग चोरी ओर तोडफ़ोड़ कैसे कर सकते हैं। पुलिस ने मामले में फआईआर दर्जकरन से पहले जांच करने की बात कही है। बताया गया कि इसी बात को लेकर पुलिस द्वारा मौके का निरीक्षण किया गया था।