स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एमपी के इस जिले में बारिश बनी काल, जानिए कैसे

Bajrangi Rathore

Publish: Jul 21, 2019 01:25 AM | Updated: Jul 21, 2019 01:25 AM

Panna

एमपी के इस जिले में बारिश बनी काल, जानिए कैसे

पन्ना। मप्र के पन्ना जिले में करीब एक सप्ताह तक सूखा रहने के बाद शनिवार की दोपहर अचानक बादलों की तेज गडग़ड़ाहट और बिजली की चमक के बीच देवेंद्रनगर थाना क्षेत्र में श्यामरडाडा और बड़ा गांव में आकाशीय बिजली गिरी। आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गई जबकि एक गंभीर रूप से झुलस गया।

जानकारी के अनुसार शनिवार की दोपहर करीब एक बजे तक तेज धूप निकली हुई थी। दोपहर दो बजे के बाद अचानक बादलों की तेज गडग़ड़ाहट और बिजली की चमक के कारण लोग सहम गए। ग्राम श्यामरडांडा में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हल्के चौधरी पिता भल्ले चौधरी (65) की मौके पर ही मौत हो गई।

वहीं एक अन्य घटना देवेंद्रनगर थाना क्षेत्र के ही ग्राम बड़ागांव में भी हुई यहां आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 17 वर्षीय किशोरी पूनम वंशकार पुत्री कमलेश वंशकर की मौके पर ही मौत हो गई। यहीं हादसे में एक अन्य गंभीर रूप से झुलस गया है। उसे गंभीर हालत में ग्रामीणोंं द्वारा देवेंद्रनगर अस्पताल लाया गया। घटना की जानकारी पुलिस को भी दी गई है।

फसलों को मिली संजीवनी

बादलों की तेज गडग़ड़ाहट ओर बिजली की चमक के साथ ही बारिश का दौर शुरू हो गया। जिला मुख्यालय में करीब आधे घंटे तक हुई बारिश से लोगों को भीषण गर्मी और उमस से राहत मिली। वहीं जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में हुई बारिश से फसलों को मानो संजीवनी मिल गई। करीब एक सप्ताह से बारिश नहीं होने के कारण किसानों से फसलें बो दी थी।

फसलों की बुवाई के कारण बीज अंकुरित तो हो गए थे, लेकिन अब पानी नहीं गिरने के कारण फसलों के नुकसान होने की आशंका बढ़ गई थी। इसी कारण से किसान बारिश का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। दोपहर में अचानक बारिश शुरूहो जाने से किसानों ने भी राहत की सांस ली है।