स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पन्ना में शहर सहित पवई के दर्जनों गांवों के लोग 17 घंटे गर्मी से बिलबिलाए, जानें क्या है मामला

Anil Singh Kushwaha

Publish: Aug 27, 2019 18:37 PM | Updated: Aug 27, 2019 18:37 PM

Panna

आकाशीय बिजली गिरने से नष्ट हुए थे पांच इंसुलेटर

पवई. नगर में रविवार की शाम तेज गर्जन के साथ आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से पांच बिजली के खंभों के इंसुलेटर नष्ट हो गए, इससे बिजली की लाइन में फाल्ट आ गया और रातभर बिजली की आपूर्ति प्रभावित रही। इसके कारण पवई कस्बा सहित आसपास के एक दर्जन से अधिक गांवों के करीब 17 हजार बिजली उपभोक्ता प्रभावित रहे। रातभर बिजली गुल रहने से नगर में सुबह पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। इससे लोगों की परेशानी और भी अधिक बढ़ गई।

लगभग 17 हजार उपभोक्ता रहे परेशान
जानकारी के अनुसार रविवार की शाम करीब ६ बजे तेज आकाशीय गर्जना के साथ झमाझम बारिश हो रही थी। इसी बीच आकाशीय बिजली गिरने से बिजली के खंभे उसके प्रभाव में आ गए। इससे ग्राम हिनौता और पवई के बीच एक-एक करके पांच खंभों के इंसुलेटर नष्ट हो गए। इंसुलेटर नष्ट होने से तारों में फाल्ट आ गया। इससे बिजली की आपूर्ति बाधित हो गई। बिजली कंपनी के अधिकारी और कर्मचारी घंटों तार में आया फाल्ट तलाशते रहे, लेकिन रात के अंधेरे और बारिश में फाल्ट तलाशना काफी मशक्कत भरा काम रहा। फाल्ट मिलने के बाद नष्ट हुए इंसुलेटरों को बदलने का काम शुरू हुआ।

फाल्ट सुधारने में लगा पूरी रात
यह काम पूरी रात चलने के बाद ही दिन में सुबह 11 बजे तक चला। इससे 11 बजे के बाद बिजली की आपूर्ति बहाल हुई तो लोगों ने राहत की सांस ली। बिजली कंपनी के उपयंत्री बीएल गुप्ता ने बताया कि बिजली अपूति ठप रहने से पवई कस्बा सहित आसपास के दर्जनों गांव प्रभावित थे, जिसमें नगरीय क्षेत्र के 3 हजार 274 और ग्रामीण क्षेत्र के 13 हजार 972 उपभोक्ता प्रभावित रहे।

सुबह नहीं हो सकी पेयजल आपूर्ति
रातभर बिजली नहीं रहने के कारण सुबह नगर में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। इससे रातभर बिजली से परेशान नगर के लोग सुबह से पानी के लिए भी परेशान दिखे। इससे मोहल्लों में लगे हंैडपंपों में सुबह से ही लोगों की भीड़ दिखाई दी। गौरतलब है कि लोगों को दैनिक उपयोग के कामों के लिए सबसे अधिक पानी की जरूरत सुबह के समय ही होती है।