स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निरपत सागर तालाब की बेस्ट वियर क्षातिग्रस्त, हर दिन भारी मात्रा में पानी का हो रहा रिसाव

Shashikant Mishra

Publish: Dec 07, 2019 12:48 PM | Updated: Dec 07, 2019 12:48 PM

Panna

बेस्ट वियर के हफ्तों से क्षतिग्रस्त होने के बाद भी नगर पालिका के जिम्मेदारों ने नहीं उठाए जरूरी कदम
बेस्ट वियर में बड़ी-बड़ी दरारें आने से इसके टूटने की आशंका

पन्ना. पन्ना नगर को करीब ४० फीसदी पेयजल की आपूर्ति करने वाले निरपत सागर तालाब की बेस्ट वियर अपनी कुल उचाई की आधी उचाई में ही क्षतिग्रस्त हो गई है। इससे बेस्ट वियर में ऊपर से लेकर नीचे तक कई जगह बड़े-बड़े क्रेक आ गए हैं। इससे यहां से एक सप्ताह से भी अधिक समय से पानी का रिसाव होने के बाद भी जिम्मेदारों ने इसे रोकने का प्रयास नहीं किया है। यदि नगर पालिका के जिम्मेदार लोग नियमित रूप से तालाब तक जा रहे होते तो उनको इसकी भनक जरूर लग जाती है। ऐसे हालात में बेस्ट बीयर के टूटने की भी आशंका बढ़ गई है।


गौरतलब है कि निरपत सागर तालाब से शहर के 40 फीसदी पेयजल की आपूर्ति होती है। सइका फुल टैंक लेबिल १०६ फीट तक का है, लेकिन इतनी उंचाई तक पानी भरे जाने से तालाब की सुरक्षा दीवारें खतरे में पड़ सकती हैं। इसे देखते हुए तालाब को १०४ फीट की ऊंचाई तक ही भरा गया था। अभी बारिश का सीजन गुजरे करीब एक माह हो रहा है। तालाब का जल स्तर एक से डेढ़ फीट तक गिर गया है। सूत्रों के अनुसार तालाब की बेस्ट वियर में कई बड़े-बड़े क्रेक आ गए हैं। इससे इसमें सुराग हो गए हंैं और उन सुरागों से लगतार पानी का रिसाव हो रहा है। इससे यहां से हर दिन बड़ी मात्रा में पानी का रिसाव हो रहा है।


बेस्ट बियर में कई बड़े क्रेक
निरपत सागर तालाब राजसाही जमाने का है। इसका निर्माण कई दशकों पूर्व हुआ था। वर्तमान में तलाब की बेस्ट वियर में कई बड़े क्रेक आ गए हैंं। इन्हीं क्रेक से लागतार पानी का रिसाव हो रहा है। इसके कारण बेस्ट बीयर के टूटने की आशंाक भी बढ़ गई है। जिम्मेदारों को इस ओर शीघ्रता के साथ ध्यान देना चाहिए।


यहां पानी बचाने का प्रयास, वहां तालाब की अनदेखी
एक ओर जिला प्रशासन द्वारा तालाबों को भरने के लिए किलकिला फीडर की नहर के सफाई का काम शुरू किया गया है तो दूसरी ओर अनदेखी के कारण तालाब का पानी लगातार कई दिनों से बह रहा है। यदि तालाब के पानी की बर्बादी समय रहते नहीं रोकी गई तो यह गर्मी के दिनों में काफी परेशानी उठानी पड़ सकती है।

[MORE_ADVERTISE1]