स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सिंचाई कॉलोनी के बावड़ी की सफाई हो तो निखरे सौंदर्य

Shashikant Mishra

Publish: Nov 21, 2019 15:33 PM | Updated: Nov 21, 2019 15:33 PM

Panna

स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद सफाई की औपचारिकता पूरी कर लौटे नगर पालिका के कर्मचारी
पानी से लबालब भरी बावड़ी कॉलोनी के लोगों के लिए उपयोगी होने के बजाए बनी समस्या

पन्ना. नगर के सिंचाई कॉलोनी स्थित सैकड़ों साल पुरानी बावड़ी (बिहर) रखरखाव के आभाव में खंडहर में तब्दील हो रही है। सालभर पानी से लबालब भरी रहने के बाद भी यह बावड़ी कॉलोनी के लोगों के लिए किसी तरह से उपयोगी होने के बजाए समस्या बनी रहती है। इसकी समुचित सफाई तक नहीं कराई जाती है। बेहतरीय बंदेली कारीगरी का नमूना यह बावड़ी धीरे-धीरे अपना अस्तित्व खोने को है।


बावड़ी की समुचित साफ-सफाई नहीं होने के कॉरण यह कॉलोनी के लोगों के कचरे के ढेर में तब्दील होती जा रही है। इसकी सीढिय़ों में ट्रालियों कचर पड़ हुआ है। इसके पानी का भी उपयोग नहीं होता है। इससे बावड़ी का पानी सड़ चुका है। दुर्गंध दे रहा है। इसमें रोग जनिज मच्छरों के लार्वा पल रह हैं। इससे यह कॉलोनी के लोगों के लिए सुविधा की जगह पारेशानी बन गई है।


भरपूर पानी फिर भी कॉलोनी के लिए समस्या
बावड़ी के लबालब पानी से भरे होने के बाद भी यह कॉलोनी के लोगों के लिए सुविधा से ज्यादा समस्या बन गई है। नगर पालिका के पास इसके रखरखाव का जिम्मा होने के बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यहां की गंदगी से परेशान लोगों ने शिकायत की तो नगर पालिका के कर्मचारी कुछ समय के लिए सफाई करने के लिए पहुंचे और सफाई की औपचाकिरता पूरी कर वापस लौट आए।यदि इसका समुचित रखरखाव कर दिया जाए तो इसका सौंदर्य भी निखर आएगा और सैकड़ों साल पुरानी यह जल संरचना फिर से जीवंत हो उठेगी।

[MORE_ADVERTISE1]