स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चौटाला को जेल में रखने को हुआ आप-जजपा गठबंधन:अभय

Prateek Saini

Publish: Apr 17, 2019 21:35 PM | Updated: Apr 17, 2019 21:35 PM

Panipat

चौटाला ने मांग की कि बेमौसमी बारिश पीडि़त इलाकों में हो विशेष गिरदावरी...

 

(चंडीगढ़,पानीपत): हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के निवर्तमान नेता अभय चौटाला ने आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी के बीच हुए गठबंधन को असंवैधानिक करार देते हुए कहा है कि यह गठबंधन राजनीतिक व सिद्धांतिक नहीं है बल्कि इसका असल उद्देश्य इनेलो सुप्रीमों ओम प्रकाश चौटाला को जेल से बाहर आने से रोकना है। यह गठबंधन हरियाणा के प्रत्येक किसान के साथ धोखा है।

 

आज यहां पत्रकारों से बातचीत में अभय चौटाला ने कहा कि इस गठबंधन को हरियाणा की जनता ने स्वीकार नहीं किया है क्योंकि इसके कोई राजनीतिक मायने नहीं हैं। अभय ने कहा कि व्यक्ति विशेष को हानि पहुंचाने के लिए किए गए बेमेल गठबंधनों का अंत बहुत हानिकारक होता है।


अभय ने कहा कि जिन लोगों ने आजतक दलबदल किया है वह कभी भी लोकसभा और विधानसभा की सीढ़ी नहीं चढ़ पाए हैं। अभय चौटाला ने हिसार लोकसभा सीट के बारे में बोलते हुए दुष्यंत चौटाला को नाम लिए बगैर कहा कि हिसार में कुछ लोगों का भविष्य दांव पर है, जो इस चुनाव में अस्तित्व की लड़ाई लड़ेंगे। चुनाव के बाद वह विक्टिंम बनेंगे। अभय ने कहा कि वर्तमान राजनीतिक परिवेश में भाजपा प्रत्याशियों का हर तरफ विरोध हो रहा है। आए दिन के उनके विरोध के वीडियो वायरल हो रहे हैं। जिससे यह साफ है कि चुनाव से पहले ही भाजपा की जमीन खिस्क चुकी है और कांग्रेस के पास प्रत्याशियों का भारी अभाव है।


अभय चौटाला ने प्रदेश में पिछले दो दिन से हो रही बेमौसमी बारिश पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार को चाहिए कि बिना किसी देरी के प्रदेश में विशेष गिरदावरी के निर्देश जारी करे और चुनाव के बाद किसानों को मुआवजा प्रदान किया जाए। इस बारिश में किसानों की हजारों एकड़ गेहूं की फसल बर्बाद हो गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घेरते हुए अभय चौटाला ने कहा कि उन्हें हरियाणा में आने से पहले पंजाब के अपने चुनावी घोषणा पत्र को पढ़े जिसमें उन्होंने हरियाणा को पानी न देने की बात की है। अभय ने दावा किया कि इनेलो की सरकार बनते ही हरियाणा को उसके हिस्से का पानी दिलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करवाया जाएगा।