स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दो ट्रोलों में हुई जोरदार भिड़ंत, दोनों के डीजल टैंक फटे, चालक-खलासी जिंदा जले

abdul bari

Publish: Sep 23, 2019 01:48 AM | Updated: Sep 23, 2019 01:48 AM

Pali

दो ट्रोले ओवरटेक के दौरान भिड़ ( trailer Accident in pali ) गए। हादसे के बाद कोयले व टाइल्स से भरे दोनों ट्रोले में आग लग गई। ( road accident in pali ) थाना प्रभारी सुरेश चौधरी के अनुसार गुजरात से दिल्ली की तरफ जा रहे दो ट्रोले झूठा कृषि उद्योग के पास ओवरटेक के दौरान भिड़ गए। एक ट्रोले में टाइल्स थी तो दूसरे में कोयला भरा था।

रायपुर मारवाड़ (पाली).
ब्यावर-पिंडवाड़ा फोरलेन पर झूठा के पास रविवार शाम दो ट्रोले ओवरटेक के दौरान भिड़ ( trailer Accident in pali ) गए। हादसे के बाद कोयले व टाइल्स से भरे दोनों ट्रोले में आग लग गई। टाइल्स के कर्टन लदे ट्रोले का चालक व खलासी जिंदा जल ( two burned alive ) गए। जबकि कोयले से भरे ट्रोले में चालक व खलासी घायल हो गए। उन्हें ब्यावर अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया।

इस तरह हुई दर्दनाक घटना ( road accident in pali )

थाना प्रभारी सुरेश चौधरी के अनुसार गुजरात से दिल्ली की तरफ जा रहे दो ट्रोले झूठा कृषि उद्योग के पास ओवरटेक के दौरान भिड़ गए। एक ट्रोले में टाइल्स थी तो दूसरे में कोयला भरा था। हादसे में दोनों ट्रोले के अगले हिस्से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। दोनों के चालक व खलासी अंदर फंस गए। भाजयुमो मण्डल अध्यक्ष कमलेश बोहरा, गुड्डू गहलोत, दिनेश जांगिड़, नोरतमल कुमावत सहित अन्य लोगों ने कोयले से भरे ट्रोले में फंसे चालक बहरोड़ अलवर निवासी सुरेन्द्र पुत्र श्रीराम व खलासी भालावास अलवर निवासी महेश पुत्र बद्री को बाहर निकाला। जबकि दूसरे ट्रोले में चालक व खलासी जिंदा जल ( burned alive ) गए।

मौके पर मची अफरा-तफरी ( pali news )

सूचना पर एएसआइ आमसिंह व मुख्य आरक्षी रतनलाल सीरवी मौके पर पहुचे। सोजत व जैतारण से दमकल बुलाकर आग पर काबू पाया। हादसे के दौरान दोनों ट्रोले के डीजल टैंक फट गए। आग की चपेट में कोयला व टाइल्स के कर्टन भी आ गए। आग कुछ ही देर में विकराल हो गई। मौके पर अफरा-तफरी मच गई। राजमार्ग पर यातायात रोकना पड़ा। पुलिस ने वन वे कर वाहनों को निकाला।


वे चीखते रहे पर कोई बचा न सका

आग से घिरे ट्रोले में जिंदा जलने वाले चालक व खलाड़ी फंस गए। वे बचाव के लिए चिल्लाते रहे, लेकिन आग के कारण पास कोई भी नहीं जा सका। इससे वे जिंदा जल गए। दोनों मृतकों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। ट्रोले के नम्बर के आधार पर मालिक का पता लगाने का प्रयास कर रही हे।


फिर खली दमकल की कमी

रायपुर में दमकल नहीं है। इससे हर बार पड़ोसी क्षेत्र सोजत व जैतारण से मदद मांगनी पड़ती है। सोजत व जैतारण दूरी के चलते दमकल समय पर नहीं पहुंच सकी। इससे चालक व खलासी को बचाया नहीं जा सका। पुलिस ने यातायात सुचारू करवाया।

यह खबरें भी पढ़ें...

बाथरूम में ले जाकर अश्लील वीडियो बनाने का मुख्य आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे


रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान: बाघ के हमले से बकरियां चरा रहे युवक की दर्दनाक मौत

घर से बिना बताए निकली थी विवाहिता, ट्रेन से कटा मिला शव, फैली सनसनी