स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीइटीपी प्लांट का औचक निरीक्षण, कई कमियां मिलीं

Suresh Hemnani

Publish: Oct 21, 2019 13:27 PM | Updated: Oct 21, 2019 13:27 PM

Pali

-इनलेट और आउटलेट से डिस्चार्ज के लिएसेंपल

पाली। सीइटीपी प्लांटों [ CETP Plant ] के निर्धारित मापदंडों पर चलने के दावों की पोल दो दिन बाद ही खुल गई। एनजीटी में हुई सुनवाई में सीइटीपी ने दावा किया था कि सब कुछ बेहतर है। प्रदूषण नियंत्रण मंडल [ Pollution control board ] की टीम ने सीइटीपी के तीनों प्लांटों का औचक निरीक्षण किया, जिसमें कई खामियां पाई गई हैं। मंडल ने इनलेट और आउटलेट पर पानी के सैंपल [ Samples of polluted water ] लेकर जांच के लिए भिजवाए हैं।

आरओ अमित शर्मा ने बताया कि एनजीटी द्वारा नियुक्त [ NGT Instructions ] टीम अगले दिनों में सभी प्लांटों का अवलोकन करेगी। इस कारण व्यवस्थाएं जांचने के लिए रविवार दोपहर प्लांट संख्या 2, 4 व 6 नंबर का औचक निरीक्षण किया। तीनों प्लांट निर्धारित मापदंडों पर नहीं चल रहे थे। ऑपरेशन और मैंटनेंस का काम भी बेहद कमजोर पाया गया।

सीइटीपी के लिए खड़ी हो सकती है मुश्किलें
औचक निरीक्षण में खामियां उजागर होने से सीइटीपी के सामने नई मुश्किलें खड़ी हो सकती है। एनजीटी द्वारा नियुक्त कोर्ट कमिश्नर भी अगले कुछ दिनों बाद पाली का दौरा करने आएंगे। ऐसे में सीइटीपी प्लांटों के संचालन में सुधार नहीं होने का खामियाजा कपड़ा उद्योग को भुगतना पड़ सकता है। जबकि केन्द्र सरकार द्वारा हाल ही में सौ करोड़ की योजना स्वीकृत करने के बाद कपड़ा उद्योग के दिन फिरने की उम्मीद जगी थी।

मुख्यालय भेजी रिपोर्ट
सीइटीपी को औचक निरीक्षण किया, जिसमें असंतोषजनक स्थितियां सामने आई। इसकी रिपोर्ट मुख्यालय भिजवाई है। मुख्यालय के निर्देशों पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। -अमित शर्मा, आरओ