स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO : सडक़ पार करती स्कूली छात्रा से छुटी मां की अंगुली, ट्रक की चपेट में आने से छात्रा की मौत

Suresh Hemnani

Publish: Oct 16, 2019 13:35 PM | Updated: Oct 16, 2019 21:07 PM

Pali

-पाली जिले के सेंदड़ा थाना क्षेत्र के फोरलेन स्थित लालपुरा के समीप हुआ हादसा

Girl student death in truck accident in pali :
-लगा जाम, ग्रामीणो ने किया हंगामा

पाली/रायपुर मारवाड़। Girl student death in truck accident in pali : ब्यावर पिंडवाड़ा फोरलेन [ Beawar Pindwara Fourlane ] बुधवार सुबह लालपुरा चौराहे पर स्कूल जाने के लिए सडक़ पार कर रही मासूम छात्रा की सेना के ट्रक की चपेट में आने से मौत हो गई। आक्रोशित ग्रामीणों ने सडक़ के बीच एकत्रित होकर हंगामा किया, इससे हाइवे जाम हो गया। पुलिस ने समझाइश के बाद आवागमन सुचारू कराया।

पुलिस के अनुसार लालपुरा निवासी मेहरूना (8) पुत्री रहमान काठात इसी गांव के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में कक्षा तीन में अध्यनरत थी। स्कूल चौराहे से सटा हुआ है। यहां पहुंचने के लिए सडक़ पार करनी होती है। सुबह मेहरूना को सडक़ पार करवाने उसकी मां मनवर लेकर गई। वह मां की अंगुली पकड़ सडक़ पार कर रही थी। ब्यावर की तरफ से अचानक सेना का ट्रक आया। हड़बड़ा कर मनवर डिवाइडर पर चढ़ गई, लेकिन मासूम बालिका मेहरूना ट्रक की चपेट में आ गई। वह गम्भीर घायल हो गई। सूचना पर सेंदड़ा थानाप्रभारी प्रेमाराम विश्नोई मौके पर पहुंचे। छात्रा को ब्यावर अस्पताल ले जाया गया। जहां छात्रा को मृत घोषित कर दिया।

अलग रास्ते की मांग
घटना के बाद ग्रामीणों ने मौके पर हंगामा कर दिया। ग्रामीणों ने स्कूल तक जाने के लिए पुल से होकर अलग रास्ता बनाने की मांग की। थानाप्रभारी विश्नोई ने सडक़ निर्माण कम्पनी के रूट मैनेजर पांचूराम कुमावत को मौके पर बुलाया। पूर्व प्रधान लाल मोहम्मद, अमरपुरा सरपंच शकरुद्दीन काठात, राजू काठात सहित अन्य ने पंद्रह दिन के भीतर अलग रास्ता नहीं बनाने पर जाम प्रदर्शन की चेतावनी दी।

जमकर सुनाई खरी खरी
ग्रामीणों ने कहा कि यहां अलग रास्ते की कई बार मांग की गई, लेकिन कम्पनी ने आज तक ध्यान नहीं दिया। ग्रामीणों ने रूट मैनेजर को जमकर खरी खरी सुनाई। ग्रामीण काफी आक्रोशित थे, मामला तूल पकड़ते देख रायपुर थाने व बर चौकी से अतिरिक्त जाब्ता बुलाया गया। डेढ़ घण्टे की समझाइश व अलग रास्ते के आश्वाशन के बाद ग्रामीण शांत हुए। शाम को पोस्टमार्टम के बाद शव मृतका के परिजनों को सौंपा गया। पुलिस ने सेना के ट्रक चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।