स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसानों की फसलें जलमग्न

Rajendra Singh Denok

Publish: Aug 20, 2019 11:48 AM | Updated: Aug 20, 2019 11:48 AM

Pali

- तिल व ग्वार को सबसे ज्यादा पहुंचा नुकसान
- कृषि विभाग अब करेगा नुकसान का सर्वे, भारी बारिश से किसान बेहाल  


पाली। पिछले दिनों लगातार हुई मूसलाधार बारिश से जिले के हजारों किसानों की फसलें जलमग्न हो गई। खेत खलिहानों में अभी भी पानी लबालब भरा हुआ है। सबसे ज्यादा नुकसान तिल व ग्वार में हुआ है। बाजरा व ज्वार की फसलें भी गिर चुकी हैं। ज्वार की फसल पीली पडऩे लग गई है। कई गांवों में मूंग की फसल में भी पानी भर गया है। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रथम दृष्टया जिले में अलग- अलग स्थानों पर 10 से 50 प्रतिशत तक फसलों में खराबा हुआ है। कृषि विभाग, बीमा कम्पनी व राजस्व विभाग मिलकर फसल नुकसान का सर्वे करेंगे। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि रोहट व पाली तहसील में फसलों का ज्यादा नुकसान हुआ है। जिले में 4 लाख 91 हजार 889 हैक्टेयर में खरीफ की फसल बुवाई है।

 

किसानों को नुकसान
तिल व ग्वार की फसल तो पूरी तरह से खराब हो चुकी है। ज्वार व बाजरा की फसल आड़ी पड़ चुकी है। मूंग की फसल में भी पानी भर चुका है। किसानों को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है
भंवरसिंह राणावत किसान, दूदौड़

बीमा कम्पनी को 72 घंटे में दें सूचना
अतिवृष्टि के कारण खराब हुई फसलों के बारे में बीमा कम्पनियों को सम्बंधित किसान को 72 घंटे में सूचना देना जरुरी है। इसके अलावा किसान कृषि विभाग के सहायक निदेशक, उपनिदेशक और संयुक्त निदेशक के यहां पर लिखित में नुकसान की जानकारी सात दिन में दे सकता है।

टोल फ्री नम्बर किए जारी
कृषि विभाग के उपनिदेशक जितेन्द्रसिंह शक्तावत ने बताया कि कृषि विभाग ने किसानों के लिए टोल फ्री नम्बर 18002660700 जारी कर दिए है। जिस पर किसान अपने खेतों में हुई नुकसान की जानकारी दे सकेंगे। फसल खराबे का आकलन करने के लिए पूरी टीम को निर्देश दे दिए है।

नुकसान का सर्वे अब करेंगे
जिले में अतिवृष्टि से अलग-अलग फसलों में 10 से 50 प्रतिशत तक खराबा हुआ है। कृषि विभाग, बीमा कम्पनी व राजस्व विभाग मिलकर नुकसान का सर्वे करेंगे। अभी गांवों से प्रारम्भिक जानकारी आई है। तिल व ग्वार की फसलों में नुकसान ज्यादा है।
जितेन्द्रसिंह शक्तावत, उपनिदेशक कृषि विभाग विस्तार पाली

आंकड़ों में बुवाई (हैक्टेयर में)
फसल बुवाई
बाजरा 29966
ज्वार 96493
मक्का 9605
मंूग 172556
मोठ 882
चवला 894
उड़द 1105
फसल बुवाई
अरहर 30
तिल 57881
मंूगफली 810
अरण्डी 4013
ग्वार 48789
कपास 8 287
अन्य 60878

कस्बे बारिश एमएम में
पाली 761
सुमेरपुर 322.50
रानी 531
सोजत 597
रायपुर 588
कस्बे बारिश एमएम में
जैतारण 598
देसूरी 558
मारवाड़ जंक्शन 587
बाली 418
रोहट 538