स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बढ़ रहा क्रेज : अब एक क्लीक करते ही घर बैठे मिलने लगा है अपनी पंसद का भोजन, पढ़ें पूरी खबर...

Suresh Hemnani

Publish: Aug 20, 2019 13:45 PM | Updated: Aug 20, 2019 13:45 PM

Pali

- ऑनलाइन ऑर्डर आमजन को भाया, अब कुछ विक्रेता हो रहे ऑफलाइन

Online food delivery system :

पाली। Online food delivery system : भूख लगी है या फिर घर पर खाना बनाने का मूड नहीं है। दोस्त-रिश्तेदारों को अच्छे रेस्टोरेंट का भोजन कराना है तो इमरजेंसी में बाहर का खाना खाने की नौबत आए तो किसी भोजनालय या होटल में जाना पड़ता था, लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब तो घर बैठे ही एक क्लिक पर मनचाहे रेस्टोरेंट का खाना मिल जाएगा। वह भी कुछ मिनटों में। अब कपड़ा नगरी में भी ऑनलाइन फूड का क्रेज बढ़ा है। पहले यह यूथ तक सीमित था लेकिन अब हर उम्र के लोगों की पसंद है।

शहर में इस समय जोमेटो, स्विगी जैसी कई कम्पनियां एक्टिव है जो ग्राहकों तक फूड डिलीवर करने का काम करती है बदले में फूड शॉप से निर्धारित कमीशन लेती है। कई व्यवसायी इन कम्पनियों के नए नियमों के कारण इनसे कन्नी काटने भी लगे हैं। रेस्टोरेंट में आने पर ग्राहक को डिस्काउंट देने का विरोध कर रहे हैं। कुछ बड़े शहरों में विरोध के स्वर मुखर हो रहे हैं। गौरतलब है कि मुम्बई, दिल्ली, कोलकता के रेस्टोरेंट तो ऑनलाइन के विरोध में ऑफलाइन फूड के नाम से एक अभियान भी चला रहे हैं।

50 के लगभग शॉप, 300 के करीब ऑर्डर
शहर में वर्तमान में लगभग 50 से 60 के करीब छोटे बड़े रेस्टोरेंट व अन्य शॉप ऑनलाइन फूड डिलीवर करने वाली कम्पनियों से जुड़े हैं। प्रतिदिन तीन सौ से अधिक ऑर्डर मिल रहे हैं। इसमें स्कूल-कॉलेज से लेकर ऑफिस वर्क करने वाले भी शामिल हैं। ऑर्डर करने के महज कुछ ही मिनटों में ग्राहक के पास फूड डिलीवर हो जाता है। खास बात यह है कि शहर के किसी भी कोने में स्थित पसंद की फूड शॉप से खाना मंगवाकर ऑर्डर कर सकते हैं।

लेकिन यह नुकसान भी
पाली खानपान के लिए मशहूर है। इसके चलते कई रेस्टोरेंट एवं फूड आइट्म्स बनाने वाले रेस्टोरेंट एवं होटल भी निरंतर खुल रहे हैं, लेकिन ऑनलाइन ऑर्डर से कस्टमर एवं सेलर के बीच रिश्तों पर असर पड़ रहा है। वहीं फूड आइट्म्स की क्वालिटी पर भी इफैक्ट पड़ता है। कई बार घटिया खाने की शिकायतें भी सामने आई है।

शॉप ऑनर व कस्टमर की राय
-ऑनलाइन फूड डिलीवर सिस्टम ग्राहक के लिए तो अच्छा है लेकिन लोकल बिजनेस के लिए अच्छा नहीं का जा सकता है। कई बार ऑनलाइन में प्रोफेशनल सप्लायर्स नहीं होने से भी फूड की क्वालिटी पर इफेक्ट पड़ता है। साथ ही ग्राहकों के साथ जुड़ाव खत्म हो रहा है। -जयंत, फूड लवर

-दोनों के लिए फायदेमंदसमय के साथ तकनीक भी आगे बढ़ रही है और तकनीक के साथ चलना ही समझदारी है। ऑनलाइन सिस्टम कहीं न कहीं कस्टमर एवं सेलर दोनों के लिए ही फायदेमंद है। इससे बिजनेस भी बढ़ता है वहीं कस्टमर को भी घर बैठे एक ऑर्डर पर फूड सप्लाई हो जाता है। -धनराज कारगवा, शॉप ऑनर

पसंद की शॉप चुनने में स्वतंत्र
ऑनलाइन फूड डिलीवर कम्पनियों के माध्यम से रेस्टोरेंट की सेलिंग बढ़ी है। रेस्टोरेंट को भी इससे काफी पहचान मिली है। इसलिए मेरी नजर में यह एक बेहतर मंच है। बाकी ग्राहक अपनी पंसद की शॉप चुनने के लिए तो स्वतंत्र है ही। -विजेन्द्र वैष्णव, शॉप ऑनर