स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यमुना नदी में उफान के बाद रेड अलर्ट जारी, यूपी के हाईटेक जिले के 52 गांव में बाढ़ का खतरा

Virendra Kumar Sharma

Publish: Aug 20, 2019 10:53 AM | Updated: Aug 20, 2019 10:54 AM

Noida

 

खबर की खास बातें:—

1. हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया पानी
2. बारिश के बाद से यमुना नदी उफान पर
3. प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी कर एनडीआरएफ को किया तैनात

 

नोएडा. हथिनीकुंड बैराज से रविवार रात छोड़े गए 8 लाख क्यूसेक पानी से यमुना नदी उफान पर है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जलस्तर बढने लगा है। इसकी वजह से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए है। प्रशासन ने आपदा स्थिति से निपटने के लिए रेड अलर्ट जारी कर दिया है। प्रशासन ने आपदा स्थिति के निपटने के लिए बाढ़ नियंत्रण चौकियां स्थापित कर दी हैं। साथ ही रेस्क्यू टीम भी लगा दी गई है। वहीं, एनडीआरएफ समेत अन्य एजेंसी को भी अलर्ट रहने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें: बेटियों से पिता बिकवाता था शराब, पीने वाले भी करते थे गंदी हरकत, घर का हाल देख पुलिस भी रह गई हैरान


यमुना नदी का तेजी के साथ जल स्तर बढ़ रहा है। बारिश के अलावा हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़ने के बाद हालात और गंभीर हो गए हैं। अगले 48 से 72 घंटे में यमुना का जल स्तर ओर बढ़ने के आसार है। उधर, प्रशासन ने बाढ़ से निपटने के लिए इंतजाम करने शुरू कर दिए हैं। नोएडा—ग्रेटर नोएडा के सेक्टर-150, याकूतपुर, कुलेसरा समेत करीब 52 गांव बाढ़ की चपेट में आ सकते हैं। जेवर के 25 गाँव बाढ़ से प्रभावित हो सकते है। जिनमें रहने वाले सवा दो लाख लोग प्रभावित हो सकते है।

यह भी पढ़ें: बंद कमरे में एक लड़की के साथ तीन लड़के देख Society ने बुला ली पुलिस, जानिए फिर क्या हुआ

एडीएम एमएन उपाध्याय ने बताया कि जलस्तर खतरे से नीचे हैं। 48 से 72 घंटे में हथिनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी के यहां पहुंचने की संभावना है। हालात पर नजर बनाए हुए हैं। 12 बाढ़ नियंत्रण चौकियां स्थापित कर दी गईं हैं। बाढ़ चौकी अधिकारी तैनात कर दिए है। सभी गांवों में अलर्ट जारी किया गया है।