स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कार में बैठकर चोरी करने वाले VIP चोर की हैरान करने वाली सच्चाई आई सामने

Iftekhar Ahmed

Publish: Aug 17, 2019 20:49 PM | Updated: Aug 17, 2019 20:49 PM

Noida

  • कार के सहारे चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफ़ाश
  • पुलिस ने दो शातिर चोरों को किया गिरफ़्तार
  • 40 वारदातों को दे चुके हैं अंजाम, 16 का खुलासा

 

नोएडा. शहर के पॉश सेक्टरों और सोसायटियों के फ्लैटों में चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफ़ाश करते हुए दो चोरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को चोरी की वारदात वाली जगह से एक सेंट्रो कार की फुटेज मिली। सीसीटीवी फुटेज से मिली क्लू यानी कार के सहारे पुलिस ने दो शातिर चोरों को गिरफ्तार करने में सफल रही। पकड़े गए दोनों चोर से पुलिस ने सोने की तीन चेन, एक लॉकेट, 9 अंगूठी, चार जोड़ी टॉप्स, 41 हजार 500 नकद, पांच जोड़ी पैंट शर्ट व सेंट्रो कार बरामद की है। गैंग के तीन सदस्य फरार है। पुलिस उनकी गिरफ्तारी का प्रयास तेज कर दिया है।

यह भी पढ़ें: सपा नेता आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, कभी भी ध्वस्त हो सकता है उनका आलीशान रिसोर्ट, देखें वीडियो

पुलिस की गिरफ्त में खड़े कपिल जाटव और साजिद शातिर किस्म के चोर हैं, जो शहर के पॉश सेक्टरों और सोसायटियों के फ्लैटों में चोरी को अंजाम दे कर पुलिस के नाक में दम किए हुए थे। डीएसपी सिटी-2 ने बताया की दोनों आरोपियों को सेक्टर-51 मेट्रो स्टेशन के पास गिरफ्तार किया गया है। जब ये किसी चोरी की वारदात को अंजाम देने जा रहे थे। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया की उनके गैंग का लीडर बिलाल है, जबकि पवन और सलीम अन्य सदस्य है।

यह भी पढ़ें: मनचले युवक की भरी पंचायत में पिटाई का वीडियो वायरल, आप भी देखें कैसे सिखाया सबक

बिलाल और कपिल दिसंबर-2018 में हरिद्वार जेल से जमानत पर बाहर आए। उसके बाद गैंग बनाकर वरदातों को अंजाम दे रहे हैं। सभी आरोपी जनवरी से अब-तक 40 से ज्यादा वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस के मुताबिक हर महीने ये लोग 8 से 10 वारदात कर रहे थे। जुलाई में करीब 15 फ्लैटों में चोरी की।

यह भी पढ़ें: दोस्त ने दोस्त को चाकू से गोदकर की हत्या, सच्चाई जानकर दोस्ती से उठ जाएगा विश्वास, देखें वीडियो

आरोप है कि आरोपी जमानत पर बाहर आने के बाद से लगातार वारदात कर रहे थे। कपिल और बिलाल बंद फ्लैटों की रेकी के बाद ताला तोड़कर 20 से 25 मिनट में चोरी कर बाहर आ जाते थे। मकान से गहने, नकदी और कीमती सामान ही चोरी करते थे, ताकि आसानी से बैग में आ जाए। उनके तीन साथी बाहर इंतजार करते हैं और सभी सेंट्रो कार में बैठ कर फरार हो जाते थे। चोरी के गहने पवन नामक सुनार को बेच देते थे। आरोपितों ने सेक्टर-34, 110, 53, 75, 51, 76, 61, 50 समेत कई सेक्टरों में बंद घरों का ताला तोड़कर चोरी की वारदात किया है। जब चोरी की फुटेज खंगाल रही थी, एक कार चार चोरी के घटना स्थल के आस-पास दिखाई दी। यानी उनकी कार चार स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। इससे पुलिस को शक हुआ और कार के नंबर से आरोपितों तक पहुंचने में मदद मिली।