स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

'पैसे वालों' के पीछे खड़े होकर ENGINEER और MBA युवक करते थे ऐसा काम, CCTV ने खोला राज तो...- देखें वीडियो

Nitin Sharma

Publish: Sep 19, 2019 18:02 PM | Updated: Sep 19, 2019 18:02 PM

Noida

Highlights

  • CCTV फुटेज के आधार पुलिस ने दोनों को किया गिरफ्तार
  • एटीएम मशीनों में रेकी कर मिनटों में खातों से उड़ा लेते थे लाखों रुपये
  • पीडि़त को पता लगने तक शहर छोड़कर हो जाते थे फरार

नोएडा। जल्द से जल्द अमीर बनने की ख्वाहिश में इंजीनियर और एक एमबीए पास युवक ने अपराध की दुनिया में कदम रखा और एटीएम से जालसाजी कर पैसे निकालने की वारदातों को अंजाम देने लगे। इसबीच ही पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों की इस ठगी का भाड़ाफोड़ कर आरोपियों को धर दबोचा। इनके पास से पुलिस ने 10एटीएम कार्ड,आधार कार्ड व नगदी बरामद की है।

 

एटीएम से रुपये निकालने के लिए आने वाले ऐसे लोगों को बनाते थे शिकार

दोनों आरोपी मिलकर पहले अलग-अलग एटीएम बूथ में जाकर खड़े हो जाते थे। इसके बाद वहां आने वाले अनपढ़ या बुजुर्ग लोगों को अपनी बातों में फंसा लेते थे। आरोपी एटीएम मशीन से बार बार रुपये निकालने पर भी रुपये न निकलने की बात कहकर वह लोगों को दूसरे एटीएम मशीन पर भेज देते थे। यहां दूसरा आरोपी पहले से मौजूद रहता था। जो एटीएम मशीन पर रुपये निकालने के लिए खड़ा रहता था। जैसे ही व्यक्ति आता तो आरोपी कहता था कि पहले आप रुपये निकाल लिजिए। इसी दौरान आरोपी चुपके से खाते की डिटेल और पिन नंबर आसानी से देख लेता था। उसके जाने के बाद बड़ी आसानी से यह शातिर दिमाग युवक उसके अकाउंट से सारा पैसा उड़ा देता है। ये दोनों जलसाजों की जोड़ी का नाम मनीष और प्रशांत है। पुलिस ने दोनों को एटीएम से जालसाजी कर पैसे निकालने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मनीष ने एमबीए तक की पढ़ाई की है। जबकि प्रशांत ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। लेकिन दोनों अपनी अपनी प्रतिभा को दरकिनारजल्द से जल्द अमीर बनने की ख्वाहिश में जालसाजी के धंधे से जुड़ गए।

पुलिस ने आरोपियों को ऐसे किया गिरफ्तार

थाना बीटा और नोएडा पुलिस दोनों ने मंगलवार रात को एक सूचना के आधार पर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से दस हजार रुपये 10 एटीएम कार्ड आदि बरामद किए हैं। पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने पुलिस को बताया कि एटीएम बूथों पर आने वाले अनपढ़ और कम उम्र के युवा जिन्हें यह अपनी मीठी-मीठी बातों से फंसा लेते थे और उनके अकाउंट की सारी डिटेल की रेकी कर लेते थे। इसके बाद उनके खाते से सारा रुपया उड़ा कर गायब हो जाते थे। और जब तक अकाउंट ऑनर को इसकी भनक लगती। तब तक बहुत देर हो चुकी होती थी। इन लोगों ने एटीएम से पैसे निकालने की दर्जनों वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।