स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO: जल्द मिलेगी ट्रैफिक से मुक्ती, तैयार हो रहा है अंतर्राष्ट्रीय स्तर का मास्टर प्लान

Ashutosh Pathak

Publish: Nov 12, 2019 09:48 AM | Updated: Nov 12, 2019 09:55 AM

Noida

Highlights

  • राइट्स करेगा शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का
  • मास्टर प्लान फॉर ट्रैफिक एंड ट्रांसपोर्ट सिस्टम तैयार करने में जुटा

ग्रेटर नोएडा। तेजी से बढ़ रही आबादी और ट्रैफिक की वजह से जाम की समस्या से जूझ रहे ग्रेटर नोएडावासियों को निजात दिलाने के लिए प्राधिकरण ने कमर कस ली है। प्राधिकरण दफ्तर में हुई बैठक में मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण, एसीईओ केके गुप्ता, प्राधिकरण के जीएम परियोजना, सीनियर मैनेजर और राइट्स संस्था के प्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक में मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने भारत सरकार की संस्था राइट्स को कंसलटेंट नियुक्त किया है। राइट्स अगले 20 वर्ष के मास्टर प्लान फॉर ट्रैफिक एंड ट्रांसपोर्ट सिस्टम तैयार करेगा। इस बाबत राइट्स की ओर से एक प्रजेंटेशन भी दिया गया।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ दीपचंद ने बताया कि मौजूदा समय में शहर में 08 लाख लोग निवास कर रहे हैं। एसीईओ ने बताया कि मौजूदा समय में परी चौक, किसान चौक (गौड़ चौक) ग्रेटर नोएडा वेस्ट महत्वपूर्ण स्थानों में शुमार है। यहां से गुजरने वाले वाहनों की संख्या बेहद अधिक हो जाती है, जिससे वाहन चालकों को जाम की समस्या से जूझना पड़ता है। इससे ईंधन की अधिक खपत के साथ ही पर्यावरण को भी नुकसान होता है। इन समस्याओं से निजात पाने के लिए ही राइट्स को ट्रैफक एंड ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट नियुक्त किया गया है।

ग्रेटर नोएडा क्षेत्र उद्यमियों, निवेशकों की पसंदीदा जगह के रूप में तेजी से विकसित हो रहा है। आने वाले 10 वर्षों में पूंजी निवेश, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों की स्थापना और क्षेत्र में निवासियों की संख्या के मद्देनजर क्षेत्र में निवासियों की संख्या जो इस समय आठ लाख है इसके 25 लाख होने का अनुमान है। किसी भी अंतर्राष्ट्रीय एवं स्मार्ट शहर के लिए जरूरी है कि वह आधारभूत सुविधाओं के साथ निवासियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का परिवहन सुविधा उपलब्ध कराए। वर्तमान में ग्रेटर नोएडा में ट्रैफिक एवं परिवहन क्षेत्र में आ रही समस्याओं के साथ ही भविष्य में बढ़ती हुई आबादी के मद्देनजर राइट्स 20 वर्षों के लिए मास्टर प्लान फॉर ट्रैफिक एंड ट्रांसपोर्ट सिस्टम ग्रेटर नोएडा तैयार करेगा। इसके लिए राइट्स को 18 माह का समय दिया गया है। इसके साथ ही समय-समय पर संस्था वर्तमान में आ रही समस्याओं के बाबत भी परामर्श उपलब्ध कराता रहेगा।

एसीईओ ने बताया कि वर्तमान में ग्रेटर नोएडा में ट्रैफिक एवं परिवहन क्षेत्र में आ रही समस्याओं के साथ ही भविष्य में बढ़ती हुई आबादी के मद्देनजर राइट्स 20 वर्षों के लिए मास्टर प्लान फॉर ट्रैफिक एंड ट्रांसपोर्ट सिस्टम ग्रेटर नोएडा तैयार करेगा। इसके लिए राइट्स को 18 माह का समय दिया गया है। इसके साथ ही समय-समय पर संस्था वर्तमान में आ रही समस्याओं के बाबत भी परामर्श उपलब्ध कराता रहेगा। उन्होंने बताया कि यह प्लान तीन चरणों में होगा। इसमें शार्ट टर्म, मध्यम और लांग टर्म प्लान शामिल होगा।

[MORE_ADVERTISE1]