स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

13 साल की लड़की को अगवा कर दो युवकों ने किया गैंगरेप, न्याय के लिए थाने के चक्कर काट रहे परिजन

Rahul Chauhan

Publish: Jul 19, 2019 19:13 PM | Updated: Jul 19, 2019 19:13 PM

Noida

खबर की मुख्य बातें-

-अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए पीड़ित पिता थाना 49 पहुंचे

-उनका आरोप है कि उनकी शिकायत पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही

-उन्होंने बताया कि उनकी लड़की को गुरुवार रात 8:30 बजे कार सवार कुछ लोगों ने किडनैप कर लिया था

नोएडा। जनपद के सेक्टर 51 होशियारपुर गांव से इन्सानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। कार सवार दो बदमाशों ने एक 13 साल लड़की को अगवा कर लिया। लड़की के मां-बाप रात भर उसे तलाशते रहे और इसकी शिकायत थाना 49 की पुलिस से की। उनकी शिकायत पर थाना 49 में धारा 363/366 आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज़ कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी थी।

यह भी पढ़ें: सपा नेता से गूगल के नाम पर 1 रुपये लेकर ठग लिए हजारों, जानिए कैसे

शुक्रवार सुबह गायब लड़की बदहवास हालत में सेक्टर 51 के एक पार्क में मिली। परिजनों का कहना है कि लड़की ने उन्होंने बताया कि लाल रंग की कार में सवार दो लोगों ने उसे अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया है और सुबह पार्क में फेंक कर भाग गए। पुलिस ने इसकी जानकारी मिलते ही लड़की का मेडिकल कराया है और मामले की जांच कर रही है।

अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए पीड़ित पिता थाना 49 पहुंचे। उनका आरोप है कि उनकी शिकायत पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही। उन्होंने बताया कि उनकी लड़की को गुरुवार रात 8:30 बजे कार सवार कुछ लोगों ने किडनैप कर लिया था। इसके बाद वह लड़की को तलाशते रहे और पुलिस से गुहार लगाते रहे। लेकिन देर रात तक उनकी शिकायत दर्ज नहीं की गई। सुबह जब वह थाने से घर लौटे तो पता चला कि उनकी बेटी पास के ही एक पार्क में बदहवास हालत में मिली है। लड़की का कहना है कि दो लोगों ने उस को अगवा कर उसके साथ लाल गाड़ी में दुष्कर्म किया है।

यह भी पढ़ें: भू-माफिया घोषित होते ही आजम खान पर 10 और मुकदमे दर्ज, अब तक रजिस्टर हुए 23 केस

वहीं इस मामले में डीएसपी- 2 का कहना की परिजनो की शिकायत पर थाना 49 में धारा 363/366 आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज़ कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी थी। लड़की के वापस आने के बाद चिकित्सीय परीक्षण कराया जा रहा है तथा आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है।