स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Hyderabad Encounter पर बोले BJP MLA पंकज सिंह- फैसला ऑन द स्‍पॉट

sharad asthana

Publish: Dec 06, 2019 11:33 AM | Updated: Dec 06, 2019 11:34 AM

Noida

Highlights

  • Hyderabad Encounter के बाद देश के लोग कर रहे Police की वाहवाही
  • महिला डॉक्‍टर के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मारा
  • Congress की मीडिया पैनलिस्‍ट Pankhuri Pathak ने इस तरीके पर उठाया सवाल

नोएडा। हैदराबाद (Hyderabad) में हुए एनकाउंटर (Encounter) के बाद शुक्रवार (Friday) सुबह पूरे देश के लोग पुलिस (Police) की वाहवाही करते थक नहीं रहे थे। हैदराबाद में डॉक्‍टर की हत्‍या व गैंगरेप के चारो आरोपियों का एनकाउंटर करने के बाद पुलिस को हीरो को रूप में देखा जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी लोग हैरादाबाद पुलिस की जमकर तारीफ कर रहे हैं। वहीं, कुछ पुलिस के इस तरीके पर सवाल भी उठा रहे हैं।

पूरे देश में दिखा था गुस्‍सा

आपको बता दें क‍ि 27-28 नवंबर की रात को महिला डॉक्‍टर के साथ हैवानियत को अंजाम दिया गया था। महिला डॉक्‍टर का जला हुआ शव नेशनल हाईवे पर अंडरपास के करीब मिला था। इसके बाद मामले को लेकर पूरे देश में गुस्‍सा देखा गया था। पुलिस ने चार आरोपियों को भी गिरफ्तार किया था। शुक्रवार तड़के सीन के रीक्रिएशन के दौरान हैदराबाद पुलिस ने इनका एनकाउंटर कर दिया। इसको लेकर नोएडा के भाजपा (BJP) विधायक (MLA) पंकज सिंह (Pankaj Singh) ने ट्वीट (Tweet) किया, फैसला ऑन द स्‍पॉट। साथ ही उन्‍होंने इसके लिए हैदराबाद पुलिस को बधाई भी दी। हालांकि, उनके ट्वीट पर कमेंट किया गया कि उन्‍नाव (Unnao) मामले का भी ऑन द स्‍पॉट फैसला कीजिए।

यह भी पढ़ें: Baghpat: जीजा ने 6 साल की मासूम से किया दुष्‍कर्म, पत्‍नी को मारपीट कर घर से निकाला

[MORE_ADVERTISE1]pankhuri_pathak.jpg[MORE_ADVERTISE2]

यह ट्वीट किया Pankhuri Pathak ने

वहीं, कांग्रेस (Congress) की मीडिया पैनलिस्‍ट पंखुड़ी पाठक (Pankhuri Pathak) ने इस तरीके पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है। उन्‍होंने लिखा, बलात्कार के लिए मौत से कम कुछ भी योग्य नहीं है, लेकिन अतिरिक्त न्यायिक साधनों के पक्ष में क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम को बदला नहीं जा सकता है। सिस्‍टम में सुधार की जरूरत है। मुठभेड़ जिम्मेदारी से दूर भागने और सिस्‍टम में सुधार से बचने का एक आसान तरीका है। इसके साथ ही उन्‍होंने ट्वीट किया, हम यह कब स्वीकार करेंगे कि एक ऐसी मानसिकता हमारे समाज में मौजूद है, जिसकी वजह से बलात्‍कार जैसे अपराध पनप रहे हैं? कारण जो भी हों- गरीबी, अशिक्षा, टीवी, इंटरनेट का प्रभाव या पुरुषवादी सोच। इस मानसिकता को बदलना पड़ेगा। इसे जड़ से उखाड़ना पड़ेगा। इसके बिना कुछ नहीं बदलेगा।

यह भी पढ़ें: Bagpat: पांच दिन पहले बेटे की हुई थी हत्या, अब पत्‍नी और साले पर बरसाईं गोलियां

[MORE_ADVERTISE3]moradabad.jpg

उधर, मुरादाबाद में छात्राओं ने हैदराबाद में हुए एनकाउंटर को लेकर खुशी जाहिर की है।