स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अपने ही देश के शीर्ष नेताओं को PAK एस्ट्रोनॉट ने दिखाया आईना, कहा- ISRO की कोशिश पर दुनिया को गर्व

Anil Kumar

Publish: Sep 08, 2019 20:24 PM | Updated: Sep 09, 2019 08:50 AM

New Delhi

  • पाकिस्तानी एस्ट्रोनॉट ने कहा कि 'चंद्रयान-2 मिशन दक्षिण एशिया के लिए अंतरिक्ष के क्षेत्र में लंबी छलांग है
  • भारत का यह प्रयास न केवल दक्षिण एशिया बल्कि पूरी ग्लोबल स्पेस इंडस्ट्री के लिए गर्व की बात है

नई दिल्ली। चांद पर कदम रखने के भारत के महत्वकांक्षी परियोजना चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम से जब संपर्क टूट गया तो भारत समेत पूरी दुनिया के वैज्ञानिकों व लोगों को थोड़ी निराशा जरूर हुई, लेकिन फिर भी दुनिया ने भारत के इस प्रयास की सरहाना की और इसे एक प्रेरणा बताया।

इसी बीच पाकिस्तान के एक मंत्री फवाद चौधरी समेत कई अन्य बड़े लोगों ने भारत पर तंज कसना शुरू कर दिया। हालांकि दुनिया के लोगों ने पाकिस्तान को इस मामले पर काफी लताड़ लगाई।

चंद्रयान 2 के फेल होने पर पाकिस्तानी मंत्री ने उड़ाया मजाक, कहा भारत का पागलपन

इसी कड़ी में पाकिस्तान के लोगों ने ही इन नेताओं की काफी आलोचना की और भारत की तारीफ की। इसी में से एक पाकिस्तान की पहली एस्ट्रोनॉट नमीरा सलीम ने भी इसरो के इस ऐतिहासिक प्रयास की तारीफ की और बधाई दी है।

नमीरा सलीम ने कहा कि मैं चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की चांद के दक्षिण ध्रुव में सॉफ्ट लैंडिंग की ऐतिहासिक कोशिश के लिए इसरो और भारत को बधाई देती हूं।'

उन्होंने आगे यह भी कहा कि 'चंद्रयान-2 मिशन दक्षिण एशिया के लिए अंतरिक्ष के क्षेत्र में लंबी छलांग है। भारत का यह प्रयास न केवल दक्षिण एशिया बल्कि पूरी ग्लोबल स्पेस इंडस्ट्री के लिए गर्व की बात है।

namira-salim.jpg

नमीरा ने पाकिस्तानी नेताओं को लगाई तलाड़

चंद्रयान 2 को लेकर भारत पर तंज कसने वाले पाकिस्तानी नेताओं पर इशारों-इशारों में नमीरा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और जमक लताड़ लगाई।

नमीरा ने कहा कि अंतरिक्ष में सभी राजनीतिक सीमाएं खत्म हो जाती हैं। दक्षिण एशिया में अंतरिक्ष के क्षेत्र में इतनी बड़ी उपलब्धि अद्भुत है। यहां यह मायने नहीं रखता है कि इसमें कौन सा देश नेतृत्व कर रहा है। उन्होंने कहा कि जो हमको धरती में बांटता है, उसको पीछे करके अंतरिक्ष हमें एकजुट करता है।

बता दें कि नमीरा सलीम पाकिस्तान की पहली एस्ट्रोनॉट हैं, जो सर रिचर्ड ब्रैनसन वर्जिन गैलेक्टिक के साथ अंतरिक्ष जाएंगी। सर रिचर्ड ब्रैनसन वर्जिन गैलेक्टिक दुनिया की पहली कॉमर्शियल स्पेसलाइन है।

चंद्रयान-2: चांद की सतह से टकराकर लैंडर विक्रम हुआ क्रैश! अब इस तकनीक पर भरोसा

इससे पहले नमीरा के नाम एक कीर्तिमान दर्ज है। नमीरा पहली पाकिस्तानी और मोनाको से पहली महिला हैं, जो उत्तरी ध्रुव पोल और दक्षिणी ध्रुव पर पहुंच चुकी है। नमीरा ने अप्रैल 2007 में उत्तरी ध्रुव में और जनवरी 2008 में दक्षिणी ध्रुव में कदम रखा था।

गौरतलब है कि शुक्रवार की देर रात और शनिवार की सुबह जब विक्रम लैंडर चांद की सतह से महज 2.1 किलोमीटर उपर था तभी इससे संपर्क टूट गया। जिसके बाद अब भारतीय वैज्ञानिक विक्रम से संपर्क करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.