स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डीडीसीए अधिकारी ने दी जानकारी, यह इंसान बताएगा कि दिल्ली में टी-20 मैच होगा या नहीं

Mazkoor Alam

Publish: Nov 03, 2019 17:24 PM | Updated: Nov 03, 2019 17:24 PM

New Delhi

भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले पहले टी-20 पर संशय के बादल मंडरा रहे हैं। अगर ऐसा ही रहा तो मैच रद्द भी हो सकता है।

नई दिल्ली : भारत और बांग्लादेश के बीच नई दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में दौरे का पहला मैच रविवार तीन नवंबर को खेला जाना है, लेकिन इस पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। पहले से प्रदूषित दिल्ली में शनिवार की शाम हुई हल्की बारिश के बाद धुंध और बढ़ गया है। इस कारण रविवार की शाम सात बजे से होने वाले पहले टी-20 मैच के आयोजन पर संशय के बादल मंडराने लगे हैं।

दिल्ली बुल्स टीम की ब्रांड एंबेस्डर बनी सनी लियोनी, जर्सी और एंथम भी लॉन्च

शनिवार को हुए हालात और खराब

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर देखते हुए पहले से इस मैच के आयोजन पर सवाल उठ रहे थे। इसके बावजूद बीसीसीआई इसे यहीं कराने पर अड़ा है। बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी एक बयान देकर कहा था कि अंतिम वक्त में आयोजन स्थल बदलना संभव नहीं है। लेकिन शनिवार को हल्की बारिश के बाद धुंध और गहराने के बाद हालात पहले से भी ज्यादा खराब हो गए हैं और अब डीडीसीए भी चिंतित नजर आ रहा है। डीडीसीए के एक अधिकारी ने कहा कि ग्राउंड स्टाफ तैयार हैं, लेकिन अब यह सबकुछ खिलाड़ियों और प्रकृति पर निर्भर करता है।

डे-नाइट टेस्ट मैच के लिए गांगुली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी निमंत्रण भेजा, सचिन होंगे सम्मानित

बारिश का असर हुआ उल्टा

डीडीसीए अधिकारी ने कहा कि शनिवार को हुई बारिश से उम्मीद थी कि धुंध छंटेगा, लेकिन इसके विपरीत हालात बेहतर होने के बजाय और खराब हो गए हैं। आंखों में जलन हो रही है और देखने में बहुत ज्यादा परेशानी महसूस हो रही है। इसका कारण यह है कि दृश्यता और कम हो गई है। उम्मीद थी कि सूरज निकलने के बाद स्मॉग से राहत मिलेगी। लेकिन सूरज दिनभर लुकाछिपी का खेल खेलता रहा। अगर ऐसा ही बना रहा तो मैच का आयोजन बेहद मुश्किल हो सकता है। इस हालत में सिर्फ दुआ ही की जा सकती है कि मैच हो जाए।

अंतिम फैसला अंपायर और रेफरी लेंगे

अधिकारी ने कहा कि मैच कराने और न कराने का अंतिम फैसला तो अंपायर से संपर्क कर रेफरी लेंगे। इसके अलावा वह ग्राउंड स्टाफ से भी संपर्क कर राय ले सकते हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वैसे मौसम के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है। संभव है कि मैच के समय तक तक सबकुछ बदल जाए। वैसे वर्तमान स्थिति को देखते हुए तो हालात ठीक नहीं लगते।

[MORE_ADVERTISE1]