स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिल्ली: बाबर रोड का नाम बदलने की मांग तेज, हिन्‍दू सेना के कार्यकर्ताओं ने साइन बोर्ड पर पोती कालिख

Shiwani Singh

Publish: Sep 14, 2019 15:09 PM | Updated: Sep 14, 2019 15:09 PM

New Delhi

  • औरंगजेब रोड के बाद अब बाबर रोड का नाम बदलने की मांग
  • हिन्‍दू सेना के कार्यकर्ताओं ने साइन बोर्ड पर पोती कालिथ
  • आसपास के इलाकों में स्टीकर भी चिपकाए

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में एक बार फिर बाबर रोड (Babar Road) का नाम बदलने की मांग तेज हो गई है। हिंदू सेना के कार्यकर्ता लगातार रोड का नाम बदलने की मांग कर रहे हैं। इसे लेकर कार्यकर्ताओं ने बंगाली मार्केट स्थित बाबर रोड के साइन बोर्ड पर कालिख पोत दी और केंद्र और दिल्ली सरकार से इस सड़क का नाम बदलने की मांग की।

 

साइन बोर्ड पर कालिख पोतने के दौरान हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने आसपास के इलाकों में कुछ स्टीकर भी चिपकाए। इन स्टीकरों को दिल्ली पुलिस ने हटवा दिया है। वहीं, मामले की जानकरी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस कालिख पोतने वाले की तलाश कर रही है। उपद्रवियों की पहचान के लिए पुलिस सीसीटीवी फूटेज भी खंगाल रही है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली के औरंगजेब रोड (Aurangzeb Road) का नाम बदलने की मांग उठी थी। जिसके बाद इस रोड़ का नाम बदलकर एपीजे अब्‍दुल कलाम रोड (APJ Abdul Kalam Road) किया गया था। यही वजह है कि अब बाबर रोड का नाम बदलने की मांग लगातार तेज हो गई हैं।

बदले जा चुके हैं कई राज्यों और शहरों के नाम

pryagraj.jpeg

नाम बदलने का यह कोई पहला मामला नहीं। ये मामला मोदी के सरकार सत्ता में आने से ही तेज हो गया है। जिसका नतीजा है कि इलाहाबाद काम बदल कर प्रयागराज रखा गया।

32325c4d4ddc9a5ad71385eed49effd8.jpg

वहीं उत्तर प्रदेश के छोटे से शहर मुगलसराय का नाम बदलतक पंडित दिन दयाल उपाध्याय स्टेशन रखा गया है। ऐसे कई राज्य और शहर हैं जिनका नाम बदलने के बारे में सोचा जा रहा है।