स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

17 देशों के विदेशी राजनयिकों का कश्मीर दौरा आज, ईयू के प्रतिनिधि शामिल नहीं

Dhirendra Kumar Mishra

Publish: Jan 09, 2020 09:12 AM | Updated: Jan 09, 2020 11:08 AM

New Delhi

  • विदेशी राजनयिकों का पहला आधिकारिक कश्मीर दौरा
  • अमरीका, वियतनाम, सहित 17 देशों के राजनयिक शामिल
  • विदेशी दल का दूसरा कश्मीर दौरा

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu-Kashmir ) से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर घेरने की पुरजोर कोशिश की। हालांकि अभी तक पाकिस्तान को इस मुहिम में सफलता नहीं मिली है। पाक पीएम इमरान खान ( Pak Pm Imran Khan ) ने संयुक्त राष्ट्र संघ ( UNO ) के मंच पर भी इसे उठाया लेकिन हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी। अब 17 देशों के राजनयिकों का एक दल कश्मीर जा रहा है। जम्मू -कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद विदेशी राजनयिकों ( Foreign Diplomat ) का यह पहला आधिकारिक कश्मीर दौरा है।

कश्मीर में 2 दिन रहेगा विदेशी राजनयिकों का दल

सरकार की ओर से भेजे जा रहे इस दल में अमरीका, वियतनाम, दक्षिण कोरिया समेत 17 देशों के राजनयिक शामिल हैं। हालांकि यूरोपियन यूनियन ( Europian Union ) के राजनयिक इस बार कश्मीर नहीं जा रहे। उन्हें बाद में कश्मीर ले जाया जाएगा। इस दल में ब्राजील, उज्बेकिस्तान, नाइजर, नाइजीरिया, मोरक्को, गुयाना, अर्जेंटीना, फिलीपींस, नॉर्वे, मालदीव, फिजी, टोगो, पेरू के साथ ही पड़ोसी बांग्लादेश के राजनयिक शामिल हैं। विदेशी राजनयिकों का यह दल कश्मीर में दो दिन रहेगा।

जानकारी के मुताबिक भारत सरकार यूरोपीय यूनियन ( Europian Union ) के भी संपर्क में है लेकिन उनकी ओर से इस टूर का हिस्सा बनने के लिए सहमति नहीं मिल सकी है। भारत सरकार के सूत्रों की मानें तो यूरोपीय यूनियन के राजनयिक अलग समूह में जाना चाहते हैं जो अभी संभव नहीं है।

इर्यू के राजनयिकों ने अक्टूबर में किया था दौरा

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 ( Article 370 ) हटाए जाने और पूर्ण राज्य का दर्जा समाप्त किए जाने के बाद यह किसी विदेशी दल का दूसरा कश्मीर दौरा है। इससे पहले अक्टूबर महीने में यूरोपीय संसद के 27 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने भी कश्मीर का दौरा किया था।

[MORE_ADVERTISE1]