स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऐसा क्या हुआ जो पालकों को सौंपी शासकीय विद्यालयों की कमान

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Oct 23, 2019 12:32 PM | Updated: Oct 23, 2019 12:32 PM

Neemuch

ऐसा क्या हुआ जो पालकों को सौंपी शासकीय विद्यालयों की कमान

नीमच. जिलेभर के शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों के विकास की कमान सोमवार को बच्चों के पालकों के हाथ में सौंप दी है। सभी विद्यालयों में बच्चों के परिजनों का मेरिट के आधार पर एसएमसी के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्यों के रूप में चयन किया गया। ऐसे में किसी विद्यालय में बच्चोंं की मेरिट के साथ ही पेरेंट्स की योग्यता देखकर उन्हें अध्यक्ष, उपाध्यक्ष आदि बनाया, वहीं कुछ विद्यालयों में एक से अधिक बच्चे मेरिट वाले होने पर उनके परिजनों का चयन पर्ची डालकर ड्रा के माध्यम से किया गया।


सहायक परियोजना समन्वयक केएम सौलंकी ने बताया कि सोमवार को जिलेभर के सभी शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में एसएमसी का गठन नियमानुसार किया गया। इसमें समिति का गठन आगामी दो साल के लिए किया गया है। यह समितियां विद्यालयों के सर्वांगीण विकास के लिए सभी संभव प्रयास करेगी।


खड़ावदा में हुआ पर्ची डालकर ड्रा के माध्यम से चयन
शासकीय प्राथमिक विद्यालय खड़ावदा में शाला प्रबंधन समिति का गठन हुआ। इस अवसर पर काफी संख्या में बच्चों के पालक उपस्थित हुए। कार्यक्रम की शुरूआत शाला प्रभारी दशरथसिंह राठौड़ द्वारा शाला प्रबंधन समिति के गठन की प्रक्रिया का वाचन कर किया गया। जिसमें सबसे पहले मां सरस्वती की पूजा अर्चना की गई।


विद्यालय में आरटीई के नियमअनुसार वंचित समूह वर्ग से तथा तथा कमजोर वर्ग समूह से एवं अन्य वर्ग समूह के शाला में अध्ययनरत ए ग्रेड के बच्चों के माताओं का चयन पर्ची डालकर के किया गया। जिसमें पालकों का चयन गोटी डालकर किया गया। इस प्रकार कुल वंचित समूह तथा कमजोर समूह तथा अन्य वर्ग से कुल मिलाकर सात महिला अभिभावकों का तथा सात पुरुष अभिभावकों का चयन किया गया। दोपहर के पश्चात अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया पर्यवेक्षक श्याम गिरी गोस्वामी अध्यापक शासकीय हाई स्कूल धनेरिया कला की उपस्थिति में की गई। जिसमें अध्यक्ष पद के लिए सिर्फ एक ही आवेदन अनोपसिंह राजावत के नाम से प्राप्त हुआ। जिन्हें सभी ने मिलकर निर्विरोध अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित किया गया। उपाध्यक्ष पद के लिए चयनित 7 महिलाओं में से मात्र एक आवेदन सीमा बाई का प्राप्त हुआ। अन्य कोई आवेदन नहीं होने पर सीमा बाई को सभी उपस्थित सदस्यों ने निर्विरोध निर्वाचित किया गया। समस्त उपस्थित सदस्यों द्वारा अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को तथा नवीन पूर्व में मनोनीत वार्ड पंच तथा सरपंच द्वारा मनोनीत महिला पंच एवं शाला की वरिष्ठ शिक्षिका एवं सचिव तथा समस्त 18 सदस्यों की कार्यकारिणी के उज्जवल भविष्य की कामना की। आभार प्रदर्शन शिक्षिका एंजलीना सिंह द्वारा माना गया।