स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पोस्ता व्यापारी बाबू सिंधी भूमिका की जांच में जुटी पुलिस, मंडी रही बंद

Virendra Singh Rathore

Publish: Oct 23, 2019 11:55 AM | Updated: Oct 23, 2019 11:55 AM

Neemuch

पोस्ता व्यापारी बाबू सिंधी भूमिका की जांच में जुटी पुलिस, मंडी रही बंद

नीमच। कृषि उपज मंडी में पोस्तादाना खरीद के दौरान किसान और व्यापारी की बीच झड़प में अन्य कुछ लोगों द्वारा मारपीट करने और बाबू सिंधी के बीच में आने पर अंजाम बुरा होगा की धमकी ने मामले को गंभीर कर दिया है। हालांकि मारपीट में आरोपी मुख्य किसान विनोद गुर्जर को पुलिस ने गिरफ्तार कर दो दिन के रिमांड पर कोर्ट से लिया है। लेकिन उसका कहना है कि मारपीट करने वाले अन्य उसके साथी नहीं थे। वहीं आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने के चलते कृषि उपजमंडी मंगलवार को बंद रही।

थाना प्रभारी आरसी दांगी ने बताया कि जिस किसान से पोस्ता लेने के दौरान बिखर जाने पर विवाद हुआ था। उसका नाम विनोद गुर्जर निवासी झालरी मेलकी गांव का है। जिसने बताया कि पोस्तादाना बिखरने की बात को लेकर आपस में विवाद हो गया था। इस दौरान अन्य लोगों ने उसक के साथ मारपीट शुरू कर दी। वह उसके साथ नहीं थी। वह किसी का नहीं जानता है। पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर मंडी ड्यूटी पर तैनात तीन गुर्जर गार्ड को भी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। वहीं आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मेलकी, चौथखेड़ा, जीरन में दबिश दी गई है। लेकिन अभी उनका कुछ पता नहीं चला है। वहीं बाबू सिंधी भी अभी नीमच में नहीं है। जिन्होंने भी व्यापारी के साथ मारपीट की थी। इधर इन तीनों गार्ड को मंडी प्रशासन ने बाहर निकाल दिया है।

पोस्ता व्यापारी बाबू सिंधी भूमिका की जांच में जुटी पुलिस, मंडी रही बंद

यह है मामला
बघाना हनुमान नगर निवासी दीपक अग्रवाल पिता ग्यारसीलाल अग्रवाल ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि वह मंडी व्यापारी है। कृषि उपज मंडी नीमच में पोस्तादाना की दोपहर 12.15 बजे नीलामी चल रही थी। उनके अलावा व्याारी शैलेष गर्ग, अजय कछावा, धनसिंह वर्मा, सोनू वर्मा इत्यादि व्यापारी भी नीलामी कार्यवाही में मौजूद थे। तभी नीलामी शेड में झालरी मेलकी निवासी विनोद गुर्जर, विकास, कैलाश पहलवान, सुंदर सिंह आए और कहने लगे कि हमारा पोस्तादाना बिखर रहा है। इस पर वह वहां हटकर दूसरे ढेर पर चले गए। इस दौरान पीछे से उनकी गर्दन पर झपट्टा मारा और लात-घूसों से मारपीट शुरू कर दी। उनके चिल्लाने पर आवाज सुनकर उनके पार्टनर कमल कुमार गर्ग के बेटे अक्षय गर्ग, विमल गर्ग के बेटे आयुष गर्ग और कर्मचारी यासीन भाई बीच-बचाव करने आए तो उनके साथ भी मारपीट की। वहीं मारपीट करने वाले लोग कह रहे थे कि जयकुमार उर्फ बाबू सिंधी के बीच में काई आएगा तो उसे खत्म कर देंगे। पुलिस ने मामले में आरोपी झालरी मेलकी निवासी विनोद गुर्जर, विकास गुर्जर, कैलाश पहलवान गुर्जर और बघाना निवासी सुंदर सिंह के खिलाफ मारपीट की धारा 323, 294, 506 में प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

किसानों ने एएसपी को दिया ज्ञापन
झालरी मेलकी गांव निवासी लख्मीचंद पिता रतनलाल गुर्जर ने बताया कि दिनांक २१ अक्टूबर को कृषि मंडी नीमच में उनका पुत्र विनोद गुर्जर स्वयं का पोस्तादाना बेचने गया था। नीलामी के समय व्यापारियों एवं उनके साथियों द्वारा पोस्ता दाने के ढेर पर चढ़ गए। जिससे पोस्तेदानों का ढेर पैर से तहस-नहस कर दिया गया। इस पर विनोद द्वारा विरोध किया गया तो व्यापारियों एवं उनके साथियों ने विनोद के साथ धक्का-मुक्की कर मारपीट शुरू कर दी। व्यापारियों ने अपने साथियों को बुला लिया, किसान विनोद किसी तरह से वहां से जान बचाकर भागा। उसने मोबाइल पर सारी जानकारी दी। मैने पुत्र को थाने भेजा तो उलटा पुलिस ने व्यापारियों के दबाव में आकर मेरे पुत्र पर 307 का प्रकरण दर्ज कर लिया। पोस्तादाना जब्त करने की कार्रवाई कर दी। उन्होंने कहा कि उनका पुत्र फरियादी के रूप में थाने गया था। उस पर झूठा प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रकरण की जांच हो और जब्त पोस्तादाना दिलाया जाए। दोषी व्यक्तियों पर कार्रवाई की जाए।

जांच की जा रही है
किसानों ने मारपीट के मामले में व्यापारियों के खिलाफ एक आवेदन दिया है, जिसकी जांच करवाई जा रही है। साक्ष्य के आधार आगे की कार्रवाई की जाएगी।
- राजीव कुमार मिश्रा, एएसपी नीमच।

आरोपी गिरफ्तार नहीं होते तब तक बंद रहेगी
व्यापारी पर इस प्रकार की गुंडागर्दी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जब तक पूरे आरोपी गिरफ्तार नहीं होते है, तब तक मंडी बंद रहेगी। पुलिस ने मारपीट में शामिल तीन सिक्योरिटी गार्ड को भी पकड़ा है। जहां तक सवाल अनुज्ञा पत्र का है। मंडी व्यापारी का माल है। वह कुछ दिन बाद निकालकर बेच लेगा।
- राकेश भारद्वाज, अध्यक्ष, व्यापार संघ कृषि उपज मंडी नीमच।