स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

4 हजार 9 विद्यार्थियों ने दी हिंदी और गणित ओलंपियाड परीक्षा

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Dec 09, 2019 13:32 PM | Updated: Dec 09, 2019 13:32 PM

Neemuch

4 हजार 9 विद्यार्थियों ने दी हिंदी और गणित ओलंपियाड परीक्षा

नीमच. जिले के तीनों विकासखंड में रविवार को अवकाश के दिन भी हिंदी ओर गणित ओलंपियाड परीक्षा का आयोजन किया गया, जिसमें 4 हजार से अधिक बच्चों ने उपस्थित होकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों में हिंदी और गणित के ज्ञान में वृद्धि कर उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने लायक बनाना है। जिले में मेरिट के आधार पर चिन्हित विद्यार्थियों को संभाग स्तरीय परीक्षा में भाग लेने का अवसर मिलेगा।


5 हजार में से 4 हजार विद्यार्थी हुए उपस्थित
जिले में कुल 5 हजार 181 विद्यार्थियों को परीक्षा में बिठाने का लक्ष्य रखा गया था। जिसमें से तीनों विकासखंड के कुल 4009 विद्यार्थी शामिल हुए। इस प्रकार करीब 1 हजार 172 विद्यार्थी अनुपस्थित रहे। जिसमें जावद में 1178 में से 807 , नीमच में 850 में से 639 औश्र मनासा में 3153 में से 2563 विद्यार्थियों ने भाग लिया। यह परीक्षा दो शिफ्ट में हुई। जिसमें सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक गणित की परीक्षा और दोपहर 2 से 4 बजे तक हिंदी ओलंपियाड की परीक्षा हुई।


इन सेंटरों पर हुई परीक्षा
-उत्कृष्ट विद्यालय नीमच
-शासकीय कन्या उमावि नीमच
-उत्कृष्ट विद्यालय जावद
-बालक हायर सेकेंडरी रामपुरा
-बालक हायर सेकेंडरी कुकड़ेश्वर
-बालक हायर सेकेंडरी मनासा
-कन्या हायर सेकेंडरी मनासा
-मॉडल स्कूल मनासा
विभिन्न विद्यालयों में आयोजित ओलंपियाड परीक्षा का निरीक्षण रविवार को डीपीसी डॉ पीएस गोयल, एपीसी केएम सौलंकी, बीआरसी आदि ने किया। यह परीक्षा कक्षा 7 वीं और 8 वीं के विद्यार्थियों के लिए आयोजित की गई। जिसमें मेरिट के आधार पर चयनित विद्यार्थियों को उज्जैन में आयोजित होने वाली संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होने का अवसर मिलेगा। गत वर्ष जिले से करीब 35 विद्यार्थी संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल हुए थे। जो संभाग में नीमच से सबसे अधिक संख्या में थे। जिला शिक्षा अधिकारी केएल बामनिया ने बताया कि उक्त परीक्षा विद्यार्थियों के मानसिक विकास और छात्रवृत्ति के लिए आयोजित की जाती है। यह राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। जो स्वेच्छि होने के कारण जो विद्यार्थी तैयारी कर शामिल होना चाहते हैं वे परीक्षा देते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]