स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां मिलावटखोर पर कार्रवाई करने वाले अधिकारी को थमाया नोटिस

Mukesh Sharaiya

Publish: Jan 15, 2020 13:07 PM | Updated: Jan 15, 2020 13:07 PM

Neemuch

अभिहित अधिकारी ने मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी को थमाया नोटिस
1 से 13 जनवरी का मांगा हिसाब, नोटिस पर कलेक्टर ने आश्चर्य व्यक्त किया
इस दरमियान दो पर बोर्ड ने ही थी रासुका की पुष्टि

नीमच. ऐसा प्रतीत होता है कि जिला चिकित्सालय परिसर से संचालित हो रहा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग राजनीति का अखाड़ा बन गया है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अभिहित अधिकारी डा. एसएस बघेल ने मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीव मिश्रा से पिछले 13 दिनों की कार्यशैली का हिसाब किताब मांगा है। इस नोटिस पर कलेक्टर ने आश्चर्य व्यक्त किया है।
विभाग में क्या हो रहा इसकी तक जानकारी नहीं
खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अभिहित अधिकारी डा. एसएस बघेल जिला चिकित्सालय के सीएमएचओ भी हैं उन्हें यह तक पता नहीं कि उनके विभाग में चल क्या रहा है। पिछले 13 दिनों मुख्य खाद्य एवं सुरक्षा अधिकारी ने कलेक्टर अजयसिंह गंगवार के निर्देश पर लगातार छापामार कार्रवाई की। पिछले दिनों रासुका मामले में हाईकोर्ट जबलपुर में एनएसए एडवाईजरी बोर्ड के समक्ष पेश भी हुए थे। लाडूराम गुर्जर और मनीष अग्रवाल पर लगाई गई रासुका के समक्ष में प्रशासन की ओर से पक्ष भी रखा था। बोर्ड ने भी दोनों रासुका को मान्य किया था। नीमच जिले से अब तक तीन मिलावटखोर पर रासुका लगाने का काम भी संजीव मिश्रा ने किया है। इसके बाद भी अभिहित अधिकारी ने उनसे पिछले 13 दिनों का विवरण मांगा इसको लेकर कलेक्टर ने भी आश्चर्य व्यक्त किया है। कलेक्टर ने इस नोटिस पर सख्त कार्रवाई के संकेत भी दिए हैं। कलेक्टर ने स्पष्ट रूप से कहा कि अभिहित अधिकारी को यह तो पता होना चाहिए कि उनके विभाग में कौन अधिकारी कैसे काम कर रहा है। इस तरह कैसे एक जिम्मेदार अधिकारी को नोटिस दिया जा सकता है। विदित हो कि नीमच जिले में मिलावटखोर पर हुई कार्रवाई की स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट तक ने तारीफ की है।
नोटिस देना आश्चर्य की बात है
खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अभिहित अधिकारी डा. एसएस बघेल ने यदि मुख्य खाद्य एवं सुरक्षा अधिकारी संजीव कुमार मिश्रा को एक से 13 जनवरी तक की उपस्थिति को लेकर नोटिस दिया है तो यह आश्चर्य की बात है। अभिहित अधिकारी को यह तक जानकारी नहीं है कि उनके मातहत अधिकारी क्या काम कर रहे हैं। रासुका तक की कार्रवाई मिश्रा द्वारा की गई। प्रदेश स्तर पर नीमच में हुई कार्रवाई की चर्चा है। कैसे नोटिस दिया इसकी मैं जानकारी लूंगा।
- अजयसिंह गंगवार, कलेक्टर

[MORE_ADVERTISE1]