स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मिलावटखोरों पर कार्रवाई को लगा ब्रेक, नहीं आई एक भी जांच रिपोर्ट

Mukesh Sharaiya

Publish: Aug 18, 2019 22:18 PM | Updated: Aug 18, 2019 22:18 PM

Neemuch

37 लाख रुपए मूल्य की जब्त खाद्य सामग्री की जब्त

नीमच. मिलावटखोरी रोकने के लिए प्रशासन की ओर से लगातार कार्रवाई की गई। नतीजे भी सार्थक निकले। पिछले एक महीने में 54 लोगों के यहां दबिश देकर नमूने तो लिए गए, लेकिन अब तक एक भी जांच रिपोर्ट नहीं आने से मिलावटखोरों के खिलाफ होने वाली कार्रवाई पर ब्रेक लग गया है। मिलावटखोरों में हौंसले भले पस्त हुए हों, लेकिन सख्त कार्रवाई नहीं होने से पूरी तरह मिलावटखोरी बंद नहीं हुई है।

न पत्र आया, न ही आई जांच रिपोर्ट
खाद्य एवं औषधि प्रशासन टीम ने शासन स्तर से मिले निर्देशों के तहत ताबड़तोड़ मिलावटखोरों के यहां छापामार कार्रवाई की। हालात यह बन गए थे कि टीम की गतिविधि होते देख लोग भागने लगे थे। आज अधिकांश मिलावटखोर या जो काम बंद कर चुके हैं या चोरीछिपे कर रहे हैं। पहले खुलेआम मंूगफली तेल, नमकीन, पॉम ऑयल, धनिया, अजवाइन, हल्दी, मिर्ची आदि में सल्फर या अखाद्य रंग की मिलावट हो रही थी। 19 जुलाई से सक्रिय हुआ खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग14 अगस्त तक करीब 37 लाख रुपए से अधिक की खाद्य सामग्री जब्त कर चुका है। 4 प्रतिष्ठानों को सील किया जा चुका है, जहां लाखों रुपए मूल्य की खाद्य सामग्री सीलबंद है। 700 लीटर के करीब दूध नष्ट करने के साथ ही प्लॉट बंद किया गया। पिछले एक महीने में दूध एवं दुग्ध उत्पाद के करीब 20 नमूने लिए गए। अन्य खाद्य नमूनों की संख्या करीब 34 है। इतने बड़े स्तर पर हुई कार्रवाई के बाद भी न तो अब तक राज्य प्रयोगशाला भोपाल से कोई पत्र प्राप्त हुआ। न ही किसी नमूने की जांच रिपोर्ट ही प्राप्त हुई है। जानकार बताते हैं कि जांच रिपोर्ट में विलम्ब होने पर राज्य प्रयोगशाला से भी जिला मुख्यालयों पर विलम्ब से रिपोर्ट भेजे जाने संबंधी पत्र प्रेषित किए गए हैं, लेकिन नीमच मुख्यालय पर इस आशय का भी पत्र नहीं आया है। यहां के अधिकारियों को उम्मीद है कि सोमवार से संभवत: जांच रिपोर्ट प्राप्त होने लगे।
54 नमूनों में से एक भी नहीं आए रिपोर्ट
मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान 19 जुलाई से प्रारंभ किया गया था। नीमच टीम द्वारा लगातार कार्रवाई किए जाने से मिलावटखोरों में हड़कम्प मचा हुआ है। अब चोरी छुपे काम हो रहा है या अधिकांश ने बंद कर दिया है। इस कारण सूचनाएं आना बंद हो गई है। जैसे ही पुख्ता सूचना मिलेगी वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। उम्मीद है कि सोमवार से लिए गए नमूनों की जांच रिपोर्ट आने लगेगी। एक महीने में 54 नमूने लिए गए हैं। इनमें से एक भी नमूने की जांच अब तक प्राप्त नहीं हुई है। एक जुलाई 19 से देखा जाए तो कुल 58 नमूने लिए गए और 37 लाख 36 हजार 578 रुपए मूल्य की खाद्य सामग्री जब्त की गई।
- संजीवकुमार मिश्रा, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी