स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Collage News यहां ऐसा क्या हुआ कि छात्रों की जान पर बन आई

Mukesh Sharaiya

Publish: Sep 18, 2019 22:38 PM | Updated: Sep 18, 2019 22:39 PM

Neemuch

प्राचार्य ने किया मामले को दबाने का प्रयास

नीमच. स्वामी विवेकानंद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मंगलवार को एक क्लास में छत का मलबा गिरा गया। गनीमत रही उस समय कक्ष में कोई नहीं था। दूसरी और प्राचार्य ने पूरी घटना को ही गलत बताया है।

कक्ष क्रमांक 11 में गिरा मलबा
पीजी कॉलेज नीमच के कक्ष क्रमांक 11 में मंगलवार को अचानक छत का मलबा गिर गया। कक्ष में से जोर की आवाज आने पर कुछ छात्रों ने वहां पहुंचकर स्थिति को देखा। जमीन पर छत का मलबा बिखरा पड़ा था। इसका फोटो खीचकर छात्रों ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। बताया जाता है कि इस घटना के विरोध में छात्रों ने कॉलेज परिसर में नारेबाजी भी की थी। गनीमत रही कि जिस समय छत का मलबा गिरा कक्ष में कोई मौजूद नहीं था। विरोध प्रदर्शन करने वाले छात्रों की संख्या अधिक नहीं होने से मामला तूल नहीं पकड़ सका। इस मामले की पुष्टि करने के लिए कॉलेज में सम्पर्क किया गया तो केवल इतना बताया गया कि एक कक्ष में प्लास्टर गिरा है। वहां कौन सी कक्षा लगती थी इस बारे में कोई जानकारी देने को तैयार नहीं दिखा। जिसे भी कक्ष का अवलोकन करने भेजा उसने यहीं बताया कि वहां ताला लगा दिया गया है। प्राचार्य ने कहा कि वहां कोई कक्षा संचालित नहीं होती है। जबकि जो फोटो वायरल हुआ है उसमें स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है कि ब्लैक बोर्ड पूरी तरह साफ है। उसपर चॉक से कुछ लिखा हुआ भी है। टेबल-कुर्सी भी व्यवस्थित जमी हुई है। घटना क्लास रूम में होने की पुष्टि फोटो स्वयं कर रहा है। अब घटना को किस कारण छुपाया जा रहा है यह विचारणीय बिंदु है। कॉलेज में हर कक्ष किसी न किसी को अलॉट किया गया है। यह कक्ष भी किसी को अलॉट किया गया होगा, लेकिन कोई संबंधित का नाम बताने को तैयार नहीं है।
गलत खबर की है वायरल
जिस तरह से सोशल मीडिया पर फोटो वायरल किया गया है। इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है। यह खबर गलत है। जहां छत का मलवा गिरा है वहां कक्षा नहीं लगती है। जिस छात्र ने सोशल मीडिया पर खबर वायरल की है उसकी तलाश की जा रही है। पहचान होने केे बाद छात्र पर कार्रवाई की जाएगी।
- डा. एलएन शर्मा, प्राचार्य