स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस लाइन स्थित आवासों को तीन दिन में खाली करने का नोटिस

Mahendra Kumar Upadhyay

Publish: Sep 23, 2019 10:12 AM | Updated: Sep 23, 2019 10:12 AM

Neemuch

- करीब ४० मकान जर्जर हालत में होने पर हुई कार्रवाई
- पुलिसकर्मियों के परिवार ने की वैकल्पिक व्यवस्था की मांग

नीमच। जिले के पुलिस मुखिया के आदेश ने बारिश के दिनों आवास खाली करने के नोटिस पर पुलिस कंट्रोल में स्थित करीब ३५ पुलिकर्मियों के परिवार के यहां हडकंप मचा दिया है। उनके सामने सबसे बड़ी दिक्कत है कि इस बारिश में एकाएक परिवार को लेकर कहां जाए। उन्हें तीन दिन के भीतर आवास खाली करने की अंतिम सूचना देकर हिदायत दी गई है।

रहवासी पुलिसकर्मियों के परिजनों का कहना है कि हम परिवार और सामान के साथ यहां आवास में सालों से रहे रहें हैं। नए आवास बनाने के लिए पुलिस अधीक्षक ने तीन दिन के अंदर खाली करने का नोटिस दिया है। अभी बारिश की हालत है, एेसे में वह एकाएक कहां जाएंगे। विभाग के द्वारा कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है। उन्हें सालभर से लगातार चौथा नोटिस मिला है। पूर्व में पुलिस अधीक्षक ने डाक भवन में वैकल्पिक व्यवस्था की बात कही थी। लेकिन अभी तक एेसा कुछ किया नहीं है। जिस कारण एकाएक बारिश में मकान खाली कैसे किया जाए। जिसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक को भी दी है। पूर्व में भी पुलिस अधीक्षक के सामने पेश होकर पीड़ा बताई है, उन्होंने सभी परिवार के रहने की वैकल्पिक व्यवस्था की बात कही थी।

बारिश में कहां जाए
बारिश का मौसम है, घरेलू सामान अधिक है। एकाएक आवास खाली करना संभव नहीं है। पुलिस अधीक्षक से तीन दिन में मकान खाली करने का नोटिस मिला है। अभी तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है।
- खेमराज चौहान, पुलिसकर्मी नीमच।

जर्जर मकान है, हो सकता है हादसा
पुलिस कंट्रोल रूम में ३५ पुलिस आवास काफी पुराने और जर्जर है। तेज बारिश में कभी भी कोई हादसा हो सकता है। विभाग ने उन्हें तोडऩे के बाद नए आवास के लिए बजट स्वीकृत किया है। लेकिन कुछ पुलिसकर्मियों के द्वारा वहां से मकान खाली नहीं किए जाने से दिक्कत आ रही है। नए मकान बनने के बाद इन सभी को उपलब्ध कराए जाएंगे। सभी को तीन दिन में खाली करने का नोटिस दिया है। वहीं इनकी वैकल्पिक व्यवस्था के लिए पुलिस लाइन और दक प्लाजा में फ्लेट दिखाए गए है। कुछ लोगों को पसंद नहीं आ रहे है तो कुछ समय के लिए स्वयं अपने अनुसार व्यवस्था करें।
- राजीव कुमार मिश्रा, एएसपी नीमच।