स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टोल नाको के पास ही सड़कों की हालत खस्ता

Mahendra Kumar Upadhyay

Publish: Aug 20, 2019 10:50 AM | Updated: Aug 20, 2019 10:50 AM

Neemuch

हाइवे सड़क की हालत खस्ता

नीमच। वर्तमान में प्रदेश की सड़को पर वाहन चालक को दोहरा नुकसान हो रहा है, एक और टोल सड़को की हालत बारिश एवं घटिया निर्माण के कारन खऱाब है। जिससे उसे अधिक समय के साथ ही ईंधन एवं रख रखाव पर रूपया खर्च करना पड़ रहा है। वही दूसरी और इन्ही घटिया एवं खस्ताहाल सड़को पर टोल नाको पर जबरन पैसा देना पद रहा है। जब टोलकर्मी से शिकायत पुस्तिका मांगो तो वो देने से मना कर देता है।


आप के नेता नवीन कुमार अग्रवाल ने बताया कि नयागांव से जावरा टोल रोड पर चल्दु से लेकर दलोदा तक सड़क में जगह जगह खड्डे हो गए है। जिसके कारण उक्त सड़क मार्ग पर चलना दुस्वार हो गया है। क्योँकि बारिश में खड्डे कितने गहरे है वो दिखाई नहीं देते है। जिसके कारण दोपहिया वाहन चालाक दुर्घटना कारित होते है। वही चार पहिया वाहन चालाक का वाहन जैसे ही इन खड्डों में होकर निकलता है। उनके टायरों की हवा तुरंत जिकल जाती है, क्योँकि वर्तमान में टुबलेस टायर के कारण जैसे ही व्हील रिम खड्डो में गिरने के कारण बेंड होती है। फ तेहगढ़ के पास तो रोजाना खड्डो में गिरकर टायर कट रहे है और वाहन चालक को दोहरा आर्थिक नुकसान होने के साथ ही समय का नुकसान भी हो रहा है, लेकिन जिम्मेदार अधिकारी जनप्रतिनिधि आंख मूंदकर महंगी और अच्छे संस्पेंशन की गाडिय़ों में बैठकर बिना टोल चुका आवागमन कर रहे है और टोल न लगने के कारन टोल रोड की दुर्दशा पर आवाज नहीं उठा रहे है और नागरिको के अधिकारों की और ध्यान नहीं दे रहे है। इस सम्बन्ध में मैंने दूरभाष पर एमपीआरडीसी के उपयंत्री सुबेकर एवं डिविजनल इंजीनियर अनिल श्रीवास्तव से चर्चा की एवं स्थिति से अवगत करवाया है साथ ही व्हाट्सअप के माध्यम से चलचित्र भी भेजे है। उनका कहना है की हम अतिशीघ्र सड़को की मरमत करवा देंगे। लेकिन टोल बंद करने की बात पर वो चुप हो गए। जिससे समझा जा सकता है कि किस प्रकार से शासकीय अधिकारियो के ऊपर उच्च राजनैतिक एवं प्रशासनिक दबाव है, जबकि नियमानुसार अगर टोल सड़क खऱाब है तो वैधानिक रूप से टोल शुल्क वसूलने का अधिकार टोल कंपनी को नहीं है। अग्रवाल ने कहा की इस सम्बन्ध में हमने 181 पर सड़क के मरमत्तीकरण तक टोल बंद करने एवं क्षतिग्रस्त सड़क को तुरंत सुधरने के लिए शिकायत दर्ज करवा दी है साथ ही इस सम्बन्ध में एमपीआरडीसी को पत्र प्रेषित कर दिए है, फि र भी कारवाही नहीं हुई तो हम अग्र आंदोलन करेंगे।