स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चौकी के रोशनदान से हुए फरार आरोपी को कोर्ट पहुंचने से पहले पुलिस ने दबोचा

Mahendra Kumar Upadhyay

Publish: Jul 19, 2019 20:24 PM | Updated: Jul 19, 2019 20:24 PM

Neemuch

- मामले में चौकी प्रभारी और आरक्षक को एसपी ने किया था निलंबित

नीमच। जिले के रतनगढ़ थाना क्षेत्र के जाट चौकी से करीब १० दिन पहले हवालात के रोशनदान से देर रात को फरार हुए मादक पदार्थ तस्करी के आरोपी सत्तू बैरवा एक बार फिर पुलिस ने दबोच लिया है। पुलिस सूत्रों की माने तो आरोपी के परिवार पर पुलिस का इतना दबाव था कि उसे कोर्ट में सरेंडर होने को मजबूर होना पड़ा। वह गुरुवार को दोपहर कोर्ट में सरेंडर होने जा रहा था। इसी दौरान कैंट थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली, जिसके बाद पुलिस ने अपना जाल बिछाकर उसे कोर्ट के बाहर नमो टी स्टाल के बाहर से दबोच लिया। उसे गिरफ्तार कर रतनगढ़ थाने ले गए। जिसे शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस के सामने आरोपी ने कबूला है कि वह रोशनदान से ही फरार हुआ था। उस समय कोई चौकसी पर नहीं था।

यह था मामला
जिले के रतनगढ़ थाने की जाट चौकी से सोमवार रात 2 से 3 बजे के बीच एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार आरोपी सत्यनारायण उर्फ सत्तू बैरवा हवालात में वेंटिलेशन का सरिया निकालकर फ रार हो गया। इसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसपी राकेश सगर चौकी ने लापरवाही पर चौकी प्रभारी सुमित मिश्रा व ड्यूटी पर तैनात आरक्षक जफर मुल्तानी को निलंबित कर जांच एएसपी राजीव मिश्रा को सौंपी थी। वहीं पुलिस ने फरार आरोपी को शरण देने में उसके मामा के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी कर उसे जेल भेजा था। जाट चौकी पुलिस ने ६ जुलाई शनिवार रात सागारानी माता मंदिर के पास चैकिंग के दौरान पुलिस ने पिकअप आरजे 36 जीए 1409 से 3 क्विंटल 80 डोडाचूरा जब्त कर सत्यनारायण पिता कूका बैरावा (20) निवासी विजयपुर बांसखेड़ा राजस्थान को गिरफ्तार किया था। उसके तीन साथी पिकअप ड्राइवर तथा पायलेटिंग कर रहे बाइक सवार फरार हो गए थे। आरोपी सत्यनारायण को कोर्ट मेंं पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया था।

तलाश में 4 टीमें हुई थी रवाना
आरोपी को पकडऩे के लिए जावद एसडीओपी के नेतृत्व में 4 टीमों का राजस्थान के लिए रवाना हुई थी। लेकिन वह राजस्थान की खाक छानकर खाली हाथ ही लौट आई थी। आखिरकार परिजनों पर दबाव बनाने के बाद आरोपी को कोर्ट में सरेंडर के दौरान दबोच लिया गया। जबकि प्रत्येक टीम में 4-4 पुलिसकर्मी शामिल थे। यहीं हाल जेल ब्रेक में है। अभी तक एक आरोपी को चोर समझकर जीरन के ग्रामीणों ने धर दबोचा था। जिस पर पुलिस ने वाह वाही लूटने का प्रयास किया। जबकि तीन फरार अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े है। जिसके लिए दस टीमों का गठन हुआ था। पुलिस का कमजोर मुखबिर तंत्र और लापरवाही शैली दिन-प्रतिदिन सामने आ रही है।

कोर्ट के सामने से किया गिरफ्तार
जाट चौकी से फरार सत्तू बैरवा को पुलिस ने कोर्ट के सामने एक चाय की होटल से गिरफ्तार किया है। इसकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने १० हजार का ईनाम घोषित किया था। शायद डर की वजह से यह न्यायालय सरेंडर करने भी आया हो। लेकिन पुलिस को इसकी जैसे ही सूचना मिली। इसे गिरफ्तार कर लिया गया है। कल कोर्ट पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। जिस दौरान फरार होने के बारे में घटना तस्दीक व पूछताछ की जाएगी।
- राकेश कुमार सगर, एसपी नीमच।