स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अधिकारी बनने के लिए नीमच में लगी 1875 लोगों की कतार

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Jan 13, 2020 12:32 PM | Updated: Jan 13, 2020 12:32 PM

Neemuch

अधिकारी बनने के लिए नीमच में लगी 1875 लोगों की कतार

नीमच. जिले के चार सेंटरों पर रविवार को शासकीय अवकाश के दिन एमपीपीएसी की परीक्षा का आयोजन हुआ। जिसमें पहले सत्र में करीब 300 तो दूसरे सत्र में करीब 309 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। इस प्रकार सभी सेंटरों पर मिलाकर कुल 1875 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल तैनात रहा। इस दौरान विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों ने भी परीक्षा का निरीक्षण किया।


जिले में कुल 2184 अभ्यर्थियों को एमपीपीएससी की परीक्षा देना थी, जिसमें पहले चरण में करीब 300 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे, वहीं दूसरे सत्र में करीब 309 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। इस प्रकार पहले सत्र में 1884 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी, तो वहीं दूसरे सत्र में करीब 1875 ने परीक्षा दी। यह परीक्षा जिला मुख्यालय पर सीताराम जाजू शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय नीमच, स्वामी विवेकानंद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय नीमच, शासकीय उमावि उत्कृष्ट विद्यालय नीमच, शासकीय उमावि क्रमांक 2 इन चारों सेंटरों पर शांतिपूर्ण ढंग से हुई। कहीं किसी प्रकार का वाद विवाद या शिकायत नहीं नजर आई।


पहले हुआ अध्यन, फिर हुआ अभिरूचि का पेपर
लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रारंभिक चयन परीक्षा में पहला पेपर सामान्य अध्यन का था, वहीं दूसरा पेपर सामान्य अभिरूचि का था। सहायक परीक्षाकेंद्राध्यक्ष, सीताराम जाजू कॉलेज डॉ एनके डबकरा ने बताया कि पहले पेपर में सामान्य ज्ञान आधारित प्रश्न थे। वहीं दूसरे पेपर में अभिरूचि आधारित प्रश्न थे।


इस प्रकार हुआ अभ्यर्थियों का प्रवेश
सैंकड़ों अभ्यर्थी जब परीक्षा देने के लिए पहुंचे तो परीक्षा केेंद्रों के बाहर दूर दूर तक वाहनों की कतार लग चुकी थी। कोई दो पहिया तो कोई चार पहिया वाहनों से आए थे, चूकि सभी परीक्षा केंद्रों के आसपास पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था थी, इस कारण कहीं भी दिक्कत नहीं आई। इसके बाद अभ्यर्थियों की चेकिंग गेट पर ही की गई। जिसमें जरूरत पडऩे पर गर्म कपड़ों की जेब और जूते मौजे भी चेक करे गए। लेकिन गर्म कपड़े और जूते मौजे पहनकर जाने दिया गया। वहीं मोबाईल, घड़ी आदि सामान को सुरक्षित रूप से बाहर ही टोकन सिस्टम के माध्यम से रखा गया।


चार सेंटरों पर कुल 2184 अभ्यर्थियों को परीक्षा देना था, जिसमें से पहले सत्र में 300 और दूसरे सत्र में 309 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। इस प्रकार कुल 1875 ने दूसरे सत्र में परीक्षा दी है। सभी सेंटरों पर शांतिपूर्ण ढंग से परीक्षा हुई। कहीं से किसी प्रकार की शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।
-पीएल देवड़ा, डिप्टी कलेक्टर, नीमच

[MORE_ADVERTISE1]