स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नसबंदी के लक्ष्य को लेकर ज्वाइंट डायरेक्टर ने व्यक्त की नाराजगी

Mukesh Sharaiya

Publish: Jan 16, 2020 13:40 PM | Updated: Jan 16, 2020 13:40 PM

Neemuch

ट्रामा सेंटर स्थित बैठककक्ष में की राष्ट्रीय कार्यक्रमों की समीक्षा

नीमच. जिले में राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत जितनी भी योजनाएं संचालिक हो रही हैं उनकी समीक्षा करने के लिए ज्वाइंड डायरेक्टर लक्ष्मी बघेल बुधवार को उज्जैन से नीमच आई। उन्होंने परिवार नियोजन के कार्यों की समीक्षा के दौरान लक्ष्य से काफी पीछे चलने पर नाराजगी व्यक्त की।
केवल नसंबदी के लक्ष्य में पिछड़ा नीमच
राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत संचालिक कार्यों की समीक्षा करने के लिए बुधवार सुबह 11.30 बजे स्वास्थ्य विभाग की ज्वाइंट डायरेक्टर लक्ष्मी बघेल उज्जैन से नीमच पहुंची थी। उन्होंने ट्रामा सेंटर स्थित बैठक कक्ष में जिले के स्वास्थ्य विभाग से जुड़े अधिकारियों की बैठक ली। सीएमएचओ, सिविल सर्जन, ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर्स सहित अन्य योजना के प्रमुख बैठक में उपस्थित थे। बैठक में मलेरिया, टीबी, टीकाकरण, अंधत्व, परिवार नियोजन आदि के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सभी योजना के वार्षिक और हासिल किए गए लक्ष्य के बारे विस्तार से समीक्षा की। विभिन्न योजनाओं के प्रमुखों से व्यक्तिगत रूप से जानकारी प्राप्त की। परिवार नियोजन को छोड़कर शेष कार्यों की प्रगति पर संतुष्टि व्यक्त की। नसंबदी का लक्ष्य काफी कम होने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की।
दो चिकित्सकों का कट चुका है 15 दिन का वेतन
परिवार नियोजन के लक्ष्य में नीमच जिला काफी पिछड़ा हुआ है। पिछले साल के अंत में नसबंदी के लक्ष्य के संबंध में भोपाल में बैठक आहूत की गई थी। इस बैठक में डा. बीएल बोरीवाल, डा. शक्तिबाला शर्मा और डा. बीएल भायल को भी उपस्थित होना था। तीनों चिकित्सक बैठक में उपस्थित नहीं हुए थे। भोपाल स्वास्थ्य विभाग की ओर से तीनों को नोटिस दिए गए थे। डा. बोरीवाल ने नोटिस का जवाब प्रस्तुत कर दिया था। डा. शर्मा और डा. भायल ने जवाब प्रस्तुत नहीं किए थे। दोनों का 15-15 दिन का वेतन काटने के आदेश भोपाल मुख्यालय से सीएमएचओ डा. एसएस बघेल को दिए गए थे। नसबंदी लक्ष्य पूरा करने में लापरवाही बरतने पर दोनों चिकित्सकों का आधे माह का वेतन काटने के बाद वे नसबंदी करने में सहयोग करने लगे हैं, लेकिन देर से चेतने की वजह से लक्ष्य में काफी पीछे हैं। सीएमएचओ डा. बघेल ने बताया कि दोनों चिकित्सकों को वेतन कटने के बाद वे बाहर से आने वाली टीम के साथ नसबंदी करने लगे हैं। इससे आंकड़ों में कुछ सुधार तो हुआ है। लक्ष्य पूरा करने के निर्देश ज्वाइंट डायरेक्टर ने दिए हैं। यदि संतुष्टिपूर्ण लक्ष्य पूर्ति नहीं होती है तो भोपाल मुख्यालय से प्राप्त निर्देश अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
नसंबदी का लक्ष्य पूरा करने के दिए निर्देश
ज्वाइंट डायरेक्टर लक्ष्मी बघेल नीमच आईं थी। उन्होंने राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत जिले में संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। टीबी, अंधत्व, मलेरिया, टीकाकरण, परिवार नियोजन आदि कार्यों की समीक्षा की। नसबंदी में लक्ष्य से काफी पीछे होने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। आगामी दो-ढाई माह में लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए। उत्साहजनक परिणाम नहीं आने पर कार्रवाई करने की बात कही।
- डा. एसएस बघेल, सीएमएचओ

[MORE_ADVERTISE1]