स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां हल्दी में मिलाया जा रहा था केंसर कारक रंग

Mukesh Sharaiya

Publish: Dec 06, 2019 12:54 PM | Updated: Dec 06, 2019 12:54 PM

Neemuch

मूंगफली के तेल में मिलावट कर बेचा जा रहा था

नीमच. खाद्य एवं औषधि प्रशासन की कार्रवाई से मिलावटखोरों के काले कारनामें उजागर होते जा रहे हैं। अब एक चौकाने वाला खुलासा हुआ है। मंूगफली तेल की ब्रांडेड पैकिंग में भी मिलावट की पुष्टि हुई है। यहां तक कि हल्दी में तो केंसर कारक रंग मिला हुआ पाया गया। अब विभाग की ओर से इन मिलावटखोरों पर सख्त कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है।
मूंगफली कीमत में बेचा जाता था मिलावटी तेल
खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने 21 अगस्त 19 को स्टेशन रोड चौकन्ना बालाजी मंदिर के समीप स्थित फर्म एसआर इंटरप्रासजेस के संचालक सुनीलकुमार अमरलाल मित्तल की मौजूदगी में छामापार कार्रवाई की गई थी। यहां से पार्वती पोस्टमैन मंगूफली तेल में मिलावट होने की आशंका में नमूना लिया गया था। फर्म से एक लाख 71 हजार 270 रुपए मूल्य कीमत का एक हजार 557 किलोग्राम तेल जब्त किया गया था। विभाग को तेल के नमूने की रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जांच में तेल अवमानक निकला है। आशय यह है कि पार्वती पोस्टमैन ब्रांड में मूंगफली के साथ दूसरा तेल भी मिला हुआ पाया गया। मिलावटी कर मूंगफली तेल की कीमत पर बेचा जाता था।
केंसर कारण रंग मिला पाया गया हल्दी में
'शुद्ध के लिए युद्धÓ अभियान के तहत 20 अगस्त 19 को हुडको कॉलोनी मकान नंबर 455 स्थित मकान पर मुखबिर सूचना पर दबिश दी गई थी। यहां चोरी छिपे कारखाना संचालित हो रहा था। विभाग की टीम ने कैलाशचंद्र मुरारीलाल की मौजूदगी में कार्रवाई की थी। इस दौरान हल्दी, मिर्ची और धनिया का नमूना लिया गया था। मिर्ची और धनिया तो लूज पैंकिंग में बेचे जाने की वजह से प्रतिबंधित बताया गया है। हल्दी में खतरनाक रसायन मिले होने की पुष्टि हुई है। जांच रिपोर्ट में हल्दी में अखाद्य कृतिम रंग मेटेनिल येलो मिला होने की पुष्टि हुई है। इस रंग से केंसर तक होने की आशंका रहती है। इस रंग को स्वास्थ्य के लिए असुरक्षित बताया गया है। विभाग की ओर से कार्रवाई में 8 किलोग्राम हल्दी, 200 किलोग्राम मिर्ची और 390 किलोग्राम धनिया पाउडर जब्त किया गया था। जब्त खाद्य सामग्री की कुल कीमत 46 हजार 200 रुपए बताई गई थी। इसी प्रकार 20 अगस्त 19 को ही विभाग की ओर से मनासा स्थित मेसर्स गोपी स्वीट्स पर कार्रवाई की गई थी। यहां फर्म संचालक अरविंद पिता रामचंद्र काबरा की उपस्थिति में मावा और नमकीन का नमूना लिया गया था। नमकीन का नमूना अवमानक पाया गया।
जब्त सामग्री कराई जाएगी नष्ट
हुडको कॉलोनी से जब्त की गई हल्दी के नमूने में स्वास्थ्य के लिए हानीकारक रंग पाया गया। इस रंग का सेवन करने से केंसर तक हो सकता है। यहां से जब्त सामग्री को नष्ट कराया जाएगा। इस कारखाने के संचालक के खिलाफ जल्द ही सीजेएम कोर्ट में प्रकरण दर्ज कराया जाएगा। शेष दोनों मामलों में एडीएम के समक्ष प्रकरण प्रस्तुत किए जाएंगे। एसआर इंटरप्राइजेस से जब्त सामग्री के संबंध में जैसे निर्देश मिलेंगे उस अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
- संजीवकुमार मिश्रा, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी

[MORE_ADVERTISE1]