स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब आपके बच्चे को 5 वीं, 8 वीं उत्र्तीण करने के इतने अंक लाना जरूरी

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Nov 19, 2019 12:45 PM | Updated: Nov 19, 2019 12:45 PM

Neemuch

अब आपके बच्चे को 5 वीं, 8 वीं उत्र्तीण करने के इतने अंक लाना जरूरी

नीमच. इस वर्ष कक्षा ५ वीं और ८ वीं की परीक्षा बोर्ड पैटर्न पर होगी। इस परीक्षा में आपके बच्चे को उत्र्तीण होने के लिए कम से कम ३३ प्रतिशत अंक लाना जरूरी है। इस परीक्षा में उन्हें पिछले वर्षों की तरह कक्षोन्नती प्रदान नहीं की जाएगी। अगर वह पास नहीं होता है तो उसे अगले वर्ष भी उसी कक्षा में रहकर पढ़ाई करना पड़ेगी।
इस प्रकार का पत्र जिले के सभी प्राथमिक और माध्यमिक शालाओं के प्रधानों द्वारा बच्चों के अभिभावकों को इसी माह प्रदान किया जाएगा। जिसका मुख्य उद्देश्य उन्हें अवगत कराते हुए स्वयं अपने बच्चे पर ध्यान रखना है। ऐसे में अगर को माता पिता अनपढ़ है तो शाला प्रधान यह पत्र उन्हें पढ़कर भी सुनाएंगे। ताकि वे अपने बच्चे को समय समय पर पढऩे बिठाएं, उन्हें होमवर्क करने को कहें, ताकि नियमित ध्यान देने पर वार्षिक परीक्षा आने तक निश्चित ही बच्चे की शैक्षणिक योग्यता में निखार आएगा।
इस पत्र के माध्यम से बताया जाएगा कि आपका बच्चा वार्षिक परीक्षा में अगर सभी विषयों में पास नहीं होता है तो उन्हें परिणाम घोषित होने की तारीख से दो माह की अवधि में पुन: परीक्षा देनी होगी। वार्षिक परीक्षा में जिन विषयों में छात्र फेल रहा, विद्यालय द्वारा उन विषयों का अतिरिक्त शिक्षण दिया जाएगा। जिसके बाद बच्चे को फिर परीक्षा का अवसर दिया जाएगा। पुन: परीक्षा में भी यदि बच्चा सम्मिलित विषयों में निर्धारित अंक प्राप्त नहीं करता है तो उसे उस कक्षा में पास नहीं किया जाएगा। उसे आगामी वर्ष उसी कक्षा में रहकर दोबारा पढऩा होगा।
इसलिए यह पत्र भेजकर शाला प्रधान द्वारा सभी पालकों से अनुरोध किया जाएगा कि वे अपने बच्चे को कक्षा ५ वीं व ८ वीं से अगली कक्षा में कक्षोन्नती के लिए प्रतिदिन शाला में भेजें, घर में भी पढ़ाई के लिए पे्ररित करें, अधिक से अधिक अभ्यास के लिए अवसर उपलब्ध कराएं। अभिभावक शिक्षक बैठक में उपस्थित होकर छात्र की प्रगति का नियमित अवलोकन करें, वहीं अन्य कोई समस्या आने पर विद्यालय जाकर शिक्षकों से मिलकर समाधान का प्रयास करें।
वर्जन.
कक्षा ५ वीं और ८ वीं की परीक्षा इस बार से बोर्ड पैटर्न पर होगी। इसलिए पालकों को जागरूक करने के लिए यह पत्र शाला प्रधान द्वारा घर घर जाकर पालको को दिए जाएंगे। वहीं जो अनपढ़ है उन्हें सुनाकर समझाएंगे।
-केएम सौलंकी, सहायक परियोजना समन्वयक

[MORE_ADVERTISE1]