स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Sep 22, 2019 12:33 PM | Updated: Sep 22, 2019 12:33 PM

Neemuch

किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

नीमच. पत्रिका अभियान बिटिया इन ऑफिस के तहत जिलेभर की बेटियों ने अपने अपने पिता के प्रतिष्ठान और कार्यालय पर पहुंचकर उनके अनुभव हासिल किए, ऐसे में किसी ने पिता के साथ बैठकर मेडिकल स्टोर्स चलाया, तो किसी ने बीमे से संबंधित काम किए, किसी ने खेती की जानकारी ली तो किसी ने अपने पिता के साथ बैठकर खबर बनाई। इससे जहां पिता को अपनी बेटियों पर गर्व हुआ, वहीं बेटियों ने भी काफी अनुभव हासिल किया।

किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

ऑफिस का नाम-अंबिका ज्वेलर्स कुकड़ेश्वर।
बिटिया का नाम-लक्षिका सोनी।

पिता का नाम-संजय सोनी।
मैंने शनिवार को अपने पिता की दुकान पर आकर उनके द्वारा किए जाने वाले कार्य के बारे में पूरी जानकारी ली। जिससे मुझे पता चला कि आज के प्रतिस्पर्धा के युग में व्यक्ति को अपनी पहचान बनाने में कितना संघर्ष करना पड़ता है।

किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

ऑफिस का नाम-पत्रिका कार्यालय, नीमच
बिटिया का नाम-अवनी सहारिया।
पिता का नाम-मुकेश सहारिया।
खबर बनाते समय किन बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए, इस बारे में पापा ने मुझे जानकारी दी, उन्होंने बताया कि खबर में कभी भी नाबालिग बच्चों और पीडि़त महिलाओं का नाम व फोटो प्रकाशित नहीं करना चाहिए।

किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

ऑफिस का नाम-शर्मा मेडिकल स्टोर्स, कुकड़ेश्वर।
बिटिया का नाम-कृतिका शर्मा।
पिता का नाम-दिनेश शर्मा।
मैंने अपने पापा के मेडिकल स्टोर्स पर पहुंचकर जाना कि कौन कौन सी दवाईयोंं का उपयोग किन किन रोगों के निदान के लिए होता है। वहीं किसी भी मरीज को दवाई देते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।


किसी ने चलाया मेडिकल स्टोर्स, तो किसी ने जांची सोने की शुद्धता

ऑफिस का नाम-एलआईसी एजेंट का ऑफिस।
बिटिया का नाम-काकुल पोरवाल।
पिता का नाम-विनोद पोरवाल।
मेरे पिता ने बताया कि व्यक्ति के लिए बीमा कितना जरूरी है। उन्होंने बीमे से होने वाले लाभ व विभिन्न प्रकार के बीमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

ऑफिस का नाम-कृषि वैज्ञानिक।
बिटिया का नाम-दिव्या सारंगदेवोत।
पिता का नाम-श्यामसिंह सारंगदेवोत।
बिटिया का कथन-मेरे पिता ने बताया कि किसान को किस प्रकार से अच्छी पैदावार के लिए बोवनी से लेकर कटाई तक किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने समय समय पर उपयोग होने वाले खाद्य एवं उर्वरकों के बारे में भी बताया।