स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शासन को दिखाया ठेंगा, गांव की सुरक्षा के लिए थामी लाठी, हर चौराहे पर टांग दी तीसरी आंख

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Oct 14, 2019 12:34 PM | Updated: Oct 14, 2019 12:34 PM

Neemuch

शासन को दिखाया ठेंगा, गांव की सुरक्षा के लिए थामी लाठी, हर चौराहे पर टांग दी तीसरी आंख

नीमच/ सरवानिया महाराज. जहां आज के समय में लोग छोटी मोटी समस्याओं से परेशान होकर शासन प्रशासन को कौसते हुए खुद परेशानियों और समस्याओं से घिरे रहते हैं। वहीं जिले के छोटे से गांव बराड़ा के ग्रामीणों ने गांव की सुरक्षा से लेकर सुविधाओं तक का जिम्मा अपने हाथों में ले लिया है। आश्चर्य की बात तो यह है कि इस गांव के ग्रामीण गांव की दशा सुधारने के लिए स्वयं फंड भी एकत्रित करने लगे हैं, ताकि जरूरत पडऩे पर किसी के सामने हाथ न फैलाने पड़े, इस गांव के ग्रामीण जहां स्वय गश्त लगा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर सुरक्षा के मद्देनजर गांव सीसीटीवी कैमरों से लैस हो चुका है। वहीं लाईटों में भी ऐसा सेंसर लगाया है जिससे सूर्याेदय और सूर्यअस्त के साथ लाईटें ऑटोमेटिक बंद चालु होती है।


बढ़ती चोरी की घटनाओं तथा ग्राम में व्याप्त समस्याओं के निराकरण के लिए जावद तहसील के ग्राम बराड़ा के ग्रामीण अब स्वयं गश्त देने लगे हंै। ताकि ग्रामीण चेन की नींद सो सकें। ग्राम बराड़ावासी अब सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं रहकर खुद सामाजिक दायित्व निभाने के लिए निकल पड़े हैं। वे रात में लाठी डंडे व सीटी लेकर, तो दिन में हर पल ग्राम पर नजर बनाए हुए हैं। ग्राम बराड़ा में युवाओं ने सोश्यल मीडिया पर एक ग्रुप भी बराड़ा सामाजिक संगठन के नाम से तैयार किया है। इस सामाजिक ग्रुप में सेवा देने वाले व्यक्ति और युवा वर्ग को प्राथमिकता से जोड़ा है। यह ग्रुप अलग अलग पारी में रात्रि गश्त लगाने से लेकर ग्राम की छोटी छोटी समस्याए जो बगैर सरकारी मदद के हल हो सकती हैं उन्हें ठीक करने का काम कर रहा है। ग्रुप के सदस्यों ने पैसा एकत्रित कर ग्राम बराड़ा को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर दिया है। इस गांव के सभी चौराहों तथा मुख्य स्थानों पर कैमरें लगाने का काम किया गया है। ताकि तीसरी आंख 24 घंटे बराड़ा की निगरानी रख सके। इस संगठन के संचालन के लिए संयोजक डॉ. विवेक शर्मा, शेलेन्द्रसिंह चुण्डावत, जितेंद्र अग्रवाल, राजकुमार गांधी, दिलीप पाटीदार, कन्हैया दास बैरागी, सुनिल प्रजापत तथा अध्यक्ष उदयराम माली, उपाध्यक्ष रघुवीर सिंह चुण्डावत, सचिव आशीष शर्मा, कोषाध्यक्ष तेजप्रकाश पाटीदार, सहसचिव मुकेशदास बैरागी, महामंत्री मनोहर दास बैरागी, संगठन मंत्री योगेश पाटीदार, मीडिया प्रभारी सत्यनारायण पाटीदार, सहसंगठन मंत्री घनश्याम माली, सुरक्षा मंत्री कन्हैया लाल पाटीदार, कुलदीप सिंह, स्वच्छता प्रभारी सुरेश प्रजापत, दिलीप धनगर, संरक्षण मंत्री भागचंद पाटीदार को पदाधिकारी बनाया गया है तथा शेष करीब 100 युवाओं को सदस्य बनाया गया है। पदाधिकारी संगठन के संचालन के लिए 1500 रुपए तथा कार्यकारिणी सदस्य 1000 रुपये तथा सदस्य 100 रुपये सालाना संगठन के कोष में जमा कराएंगे।


बराड़ा सामाजिक संगठन की सक्रियता को देखते हुए ग्राम पंचायत ने ग्राम में सेंसर वाली स्ट्रीट लाईटों से लाईटिंग की है। ताकि रात्रि में प्रकाश की व्यवस्था रहे। इन लाईटों मे सेंसर लगे हैं। ताकि सूर्यास्त होते ही आटोमेटिक लाईटें ऑन हो जाती है। सूर्योदय के समय आटोमेटिक आफ हो जाती है। महामंत्री मनोहरदास बैरागी ने बताया कि ग्राम में बढ़ती चोरियों तथा मुलभुत सुविधाओं का अभाव व साफ सफाई को लेकर हमेशा शिकायत रहती थी। इसको लेकर डा. विवेक शर्मा बीएमएस और साथियों ने मिलकर इस संगठन की नींव रखी और एक ग्राम का बड़ा संगठन बनाया जो रात्रि गश्त से लेकर अन्य आवश्यक कार्य कर रहा है। संगठन तथा कार्यों में खर्च के लिए संगठन के पदाधिकारी से लगाकर सदस्य तक शुल्क तय कर दिया है।