स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कहां जाएं गर्भवती महिलाएं, एएनएम ने करवा लिया अटैचमेंट

Subodh Kumar Tripathi

Publish: Nov 19, 2019 12:33 PM | Updated: Nov 19, 2019 12:33 PM

Neemuch

कहां जाएं गर्भवती महिलाएं, एएनएम ने करवा लिया अटैचमेंट

नीमच/मनासा. शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्र की गभर्वती महिलाओं की जांच, डिलेवरी और उपचार के लिए ग्राम बरथून में एएनएम तैनात की थी। लेकिन एएनएम ने अपनी सुविधा देखकर मनासा अटैचमेंट करवा लिया, ऐसे में क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। क्योंकि दूर दूर तक फिर कोई उनकी सुध लेने वाला नहीं है।
सरकार द्वारा लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाए प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। लेकिन सरकार के अधीन कार्य करने वाले कर्मचारी ही उनकी योजनाएं पर पलीता लगाने पर तुले हैं। ऐसा ही एक मामला मनासा विकासखण्ड के गांव बरथून के उपस्वास्थ्य केंद्र पर देखने को मिला। जहां एएनएम के अभाव में गर्भवती महिलाओं को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
बरथून के ग्रामीणों ने बताया कि बरथून उपस्वास्थ्य केंद्र पर एएनएम माया पाटीदार को पदस्थ किया है। लेकिन एएनएम ने अपनी सुविधानुसार मनासा शासकीय चिकित्सालय के टीबी विभाग में अटैचमेंट करवा लिया है। जबकि शासन के निर्देशानुसार जहां पद स्थापना है वहीं कर्मचारियों का काम करना होता है। एएनएम के मनासा में सेवाएं देने के कारण बरथून में गर्भवती महिलाओं को चेकअप, टीकाकरण सहित अन्य कार्य होने पर परेशानी का सामना करना पड़ता है। शासन की योजनाओं नयासवेरा सहित अन्य दस्तावेजों का कार्य काफी लंबे समय से बंद पड़ा है। जिसके चलते ग्रामीणों को काफी परेशान होना पड़ रहा हैं।
चार गांवों पर है बरथून सेंटर
ग्रामीणों ने बताया कि बरथून उपस्वास्थ्य केंद्र गांव बरथून, बनी, दरगपुरा एवं कोटडा का एक सेंटर हैं। जहां पर वर्तमान में एक एमपीडब्ल्यू बंशीलाल रेगर कार्यरत है जबकि एएनएम के अभाव में नयासवेरा, प्रसुति जांच, टीकाकरण सहित अन्य कागजी कार्य लंबे समय से बंद पड़े हैं। जबकि मनासा शासकीय चिकित्सायल में अटैच एएनएम को टीबी का प्रशिक्षण भी प्राप्त नहीं हैं। बावजूद मनासा अटैचमेंट कर रखा हैं।
४1 उपस्वास्थ्य केंद्र दो पर नहीं एमपीडब्ल्यू एवं एएनएम
मनासा विकासखण्ड में वर्तमान में 41 उपस्वास्थ्य केंद्र हैं। भदाना एवं हांसपुर दोनों उपस्वास्थ्य केंद्रों पर एमपीडब्ल्यू एवं एएनएम नहीं हैं। ब्लाक मेडिकल अधिकारी बी भायल ने बताया कि सभी उपस्वास्थ्य केंद्रों पर एएनएम पदस्थ है। जबकि केवल 12 केंद्रों पर ही एमपीडब्ल्यू पदस्थ है। शेष केंद्रों पर एमपीडब्ल्यू की मांग की जा रही है।
वर्जन
बरथून उपस्वास्थ्य केंद्र पर मेरे अधिनस्थ कर्मचारी की ड्यूटी लगा रखी है जिनको बीएमओ ने कार्य करने के लिए लेटर दे रखा हैं।
-माया पाटीदार, एएनएम
महिलाओं को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। स्वास्थ्य विभाग को इस ओर ध्यान देना चाहिए। जो भी आवश्यक होगा ग्राम पंचायत की तरफ से किया जाएगा।
-रमेशचंद्र विरास, सरपंच ग्राम पंचायत बरथून
बरथुन एएनएम को मनासा अटैच कर रखा था। ग्रामीणों की समस्याओं को देखते हुए दो तीन दिन में एएनएम को बरथुन रिलिव कर दिया जाएगा।
-बी भायल, ब्लॉक मेडिकल अधिकारी मनासा

[MORE_ADVERTISE1]