स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

suside : कुएं में उतराता मिला महिला और उसके चार साल के बेटे का शव

Sanjay Tiwari

Publish: Sep 21, 2019 12:49 PM | Updated: Sep 21, 2019 12:49 PM

Narsinghpur

पुलिस को आत्महत्या की आशंका, आधी रात को घर से निकली सुबह कुएं में मिली लाश

नरसिंहपुर/गोटेगांव। गोटेगांव के समीप मुंगवानी थाना क्षेत्र के ग्राम बरहटा में आधी रात एक महिला ने अपने चार साल के बच्चे के साथ कुएं में कूदने का मामला सामने आया है। शुक्रवार सुबह कुएं में प्रिया पति विवेक स्वामी (26) व बेटे विनायक स्वामी (4) का शव मिला। ग्रामीणों ने शव कुएं में होने की सूचना पुलिस व परिजनों को दी। मौके पर एसडीओपी सहित आला अधिकारी पहुंचे और शव कुएं से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल में भेजा। पुलिस ने प्रथम दृष्टया जांच में आत्महत्या की संभावना व्यक्त की है।

मुंगवानी पुलिस ने बताया कि मृतिका प्रिया का पति विवेक बरहटा के समीप शासकीय प्राथमिक शाला दोन में अतिथि शिक्षक है। प्रारंभिक पूछताछ में ससुर घनश्याम स्वामी ने बताया कि वह रात में खाना खाकर बच्चे के साथ सो गई थी, सुबह कुएं तक कैसे पहुंची इसकी जानकारी नहीं है। पुलिस ने बताया कि मृतिका प्रिया 8 माह से गर्भवती थी। घटना की सूचना पाकर प्रिया के परिजन भी बरहटा पहुंचे। इस दौरान प्रिया की मां का विलाप देख गांव के लोग भी गमगीन हो गए। पूरे गांव में इस हृदयविदारक घटना को लेकर मातम छाया रहा।

मां-बेटे ने चप्पल तक नहीं पहनी
मां-बेटे के शव के आसपास पुलिस को कोई भी सामान नहीं मिला है। दोनों नंगे पैर ही कुएं तक पहुंचे थे। संभवत: प्रिया गुस्से में घर से आत्महत्या करने का मन बनाकर ही निकली थी। दोनों ने ऐसे कपड़े पहने थे जैसे उन्हें कहीं बाहर जाना हो। हालाकि प्रिया के परिजनों ने वह हमेशा ही तैयार रहती थी और बच्चे को भी अपनी ही तरह रखती थी।

दूसरे कमरे में सो रहा था पति
पुलिस पूछताछ में मृतिका के पति विवेक स्वामी ने बताया कि उसे पीलिया हुआ था और तबीयत ज्यादा खराब थी। बच्चे और प्रिया को भी संक्रमण के कारण बुखार न आए, इस आशंका के कारण वह दूसरे कमरे में सो रहा था। रात के समय प्रिया कब बच्चे को लेकर घर से निकल गई, पता नहीं चला।

पिता ने कहा, ससुराल वाले अच्छे लोग
प्रिया का मायका मालाबहोरी जिला दमोह में है। 20 जून 2014 को उसका विवाह हुआ था। प्रिया के पिता दरबारी लाल बड़ौनिया जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के दौरान मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि बेटी के ससुराल के लोग अच्छे हैं। उसे वहां कभी परेशानी नहीं हुई और न ही उसने कभी शिकायत की। पता नहीं क्यों उसने यह आत्मघाती कदम उठाया।

गुस्से में प्रिया ने की थी बात
दरबारी लाल बड़ौनिया ने बताया कि व्यस्तता व स्वास्थ्य खराब होने के कारण करीब 15 दिन से उनकी प्रिया से फोन पर बात नहीं हुई थी। गुरुवार शाम को ही उससे बात हुई। प्रिया ने गुस्से में बात की और नाराजगी भी जताई थी कि इतने दिन बाद मैने उसे फोन किया। उन्होंने बताया कि बातचीत के समय प्रिया गुस्से में लग रही थी, लेकिन उसने कोई बात नहीं बताई।

इनका कहना है
प्रिया ने अपने बच्चे के साथ किन कारणों के चलते आत्महत्या की है, इसका पता अबतक नहीं लग सका है। शोकाकुल परिजनों के कथन जल्द ही दर्ज किये जाएंगे। प्रारंभिक पूछताछ में किसी तरह का विवाद या समस्या होना सामने नहीं आया है। कथनों के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी कि प्रिया ने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया।
पीएस बालरे, एसडीओपी