स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पदोन्नति, पदनाम और पुरानी पेंशन करें बहाल

Ajay Khare

Publish: Aug 07, 2019 21:17 PM | Updated: Aug 07, 2019 21:17 PM

Narsinghpur

शिक्षकों ने रैली निकालकर सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

नरसिंहपुर। विगत 35 वर्षों से पदोन्नति से वंचित सहायक शिक्षकों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है उन्होंने पुन: नए सिरे से संघर्ष करने की तैयारी शुरु कर दी है । इसके प्रथम चरण में मध्य प्रदेश शिक्षक संघ के नेतृत्व में शिक्षकों ने मुख्यमंत्री , सामान्य प्रशासन मंत्री , वित्त मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री को 21 सूत्री ज्ञापन कलेक्टर के माध्यम से सौंपा । मध्य प्रदेश शिक्षक संघ के संभागीय सचिव आनंद प्रकाश श्रीवास्तव, शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रांतीय संयोजक डॉ सीएल कोष्टी की उपस्थिति में जिलाध्यक्ष अंचल शर्मा, जिला सचिव सत्य पक़ाश त्यागी के नेतृत्व में शिक्षकों ने रैली निकालकर कलेक्टर दीपक सक्सेना को ज्ञापन सौंपा। प्रांत स्तरीय ज्ञापन के विभिन्न बिंदुओं में सहायक शिक्षकों सहित समस्त संवर्गो को अपग्रेड कर पदनाम, प्रधान पाठक माध्यमिक शाला की हाई स्कूल प्राचार्य पद पर पदोन्नति , पुरानी पेंशन योजना की बहाली,अध्यापक संवर्ग की संविलियन के बाद स्थाई शिक्षकों की तरह पद संरचना, व्याख्याताओं को 7800 ग्रेड पे के साथ तीसरी क्रमोन्नति, स्वतंत्र शालेय शिक्षा आयोग का गठन, शालेय शिक्षा के लिए एक ही मंत्रालय , शिक्षकों को केंद्र के समान एचआर , चिकित्सा, आवास एवं अनुसूचित क्षेत्र भत्ता, व्याख्याताओं की सीधे हाइ स्कूल प्राचार्य पद और प्राचार्यों की सहायक संचालक पद पर पदोन्नति , शिक्षकों की गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्ति, चाइल्ड केयर लीव की जगह फैमिली केयर लीव एवं 15 दिन का संवेदना अवकाश , वचन पत्र अनुसार सभी संवर्ग के शिक्षकों को चार क्रमोन्नतियां , 15 दिन का विशेष अर्जित अवकाश , शिक्षकों की सेवानिवृत्ति आयु 65 वर्ष ,निजी व्यय पर प्रशिक्षित आज तक के सभी शिक्षकों को दो विशेष वेतन वृद्धियां, स्कूल शिक्षा एवं ट्राइबल में समान आदेश, अतिथि शिक्षकों के मानदेय में वृद्धि तथा उनका नियमितीकरण, न्यायालयीन निर्णय तक सशर्त पदोन्नतियां राज्य एवं केंद्र द्वारा पुरस्कृत शिक्षकों को विशेष पदोन्नति, समूह बीमा योजना की राशि में वृद्धि, अनुदानित शिक्षण संस्थाओं के शिक्षकों को ग्रेच्युटी आदि विभिन्न मांगें सम्मिलित हैं। प्रतिनिधिमंडल में भगवत झारिया, वालकृष्ण नेमा, अविनाश शर्मा ,स्वतंत्र खरे , हरगोविंद शर्मा,अतुल शर्मा ,प्रभाकर सिंह राजपूत, आनंद नेमा, राजेश शर्मा सुरेंद्र सिंह, सतेन्द्र पटेल, राजेश ठाकुर आदि सम्मिलित रहे।