स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्कूली गतिविधियों के प्रभावी संचालन के लिए स्थल पर प्रदर्शन के माध्यम से बताए तरीके

Amit Sharma

Publish: Jul 17, 2019 13:18 PM | Updated: Jul 17, 2019 13:18 PM

Narsinghpur

स्कूली गतिविधियों के प्रभावी संचालन के लिए स्थल पर प्रदर्शन के माध्यम से बताए तरीके

स्कूली गतिविधियों के प्रभावी संचालन के लिए स्थल पर प्रदर्शन के माध्यम से बताए तरीके
सतत एवं व्यापक मूल्यांकन प्रशिक्षण की शुरुआत

नरङ्क्षसहपुर/करेली- शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय परिसर चांवरपाठा में सतत एवं व्यापक मूल्यांकन पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला की शुरुआत हुई। जिसमें राज्य स्तर से प्रशिक्षण प्राप्त मास्टर ट्रेनर्स द्वारा प्रशिक्षण संचालित किया गया। सर्वप्रथम सरस्वती पूजन एवं सरस्वती वंदना करके प्रशिक्षण की प्रार्थना सभा से शुरुआत की गई। सीसीई गतिविधियों की अवधारणा को स्पष्ट करते हुए विद्यालय में सदन निर्माण ग्रुप लीडर,निबंध लेखन प्रतियोगिता प्रार्थना सभा के दौरान की संपूर्ण गतिविधियों का स्थल पर प्रदर्शन कर संचालन का तरीका बताया गया। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य विद्यालयों में विद्यार्थियों के चहुंमुखी विकास,मानसिक,स्वास्थ्य,शैक्षिक उन्नति को दृष्टिगत रखते हुए सहस शैक्षिक वातावरण का निर्माण करने के संबंध में प्रभावी गतिविधियों के संचालन के बारे में शिक्षकों को बताया गया। शाला स्तर पर बाल सभा की गतिविधियों को आनंददायी तरीके से मनोरंजक शैली में प्रदर्शन करने हेतु प्रेरित किया गया। शिक्षण प्राप्त करने वालों में विकासखंड के समस्त हाई एवं हायर सेकंडरी विद्यालय के प्राचार्य एवं 22 शिक्षकों समेत 90 शिक्षकों की मौजूदगी रही। इस प्रशिक्षण कायक्रम के मास्टर ट्रेनर्स में में केके अग्रवाल,रजनीश जैन,सीपी अग्रवाल,अरविंद वर्मा,सत्य प्रकाश त्यागी,मिलन जारोलिया,जेपी कोष्टी,राकेश श्रीवास,शिवदयाल नोरिया शामिल हैं।