स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस नाबालिग बालिका का कई लोगों ने किया शारीरिक शोषण

Sanjay Tiwari

Publish: Aug 06, 2019 23:03 PM | Updated: Aug 06, 2019 23:03 PM

Narsinghpur

इस नाबालिग बालिका का कई लोगों ने किया शारीरिक शोषण

नरसिंहपुर। जिला मुख्यालय पर चाईल्ड फ्रेंडली चिल्ड्रन कोर्ट के शुरू होने के बाद जिले के करेली थाना अंतर्गत एक नाबालिग बालिका का कई लोगों द्वारा शारीरिक शोषण किए जाने का मामला सामने आया है। इस बारे में बाल कल्याण समिति के प्रतिवेदन के आधार पर किशोर न्याय बोर्ड की प्रधान मजिस्ट्रेट स्वप्नश्री सिंह ने करेली थाना को जांच कर दोषियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने का निर्देश दिया है।

ये है मामला
कुछ समय पूर्व ग्राम आमगांव के ग्रामीणों ने आमगांव चौकी में लिखित शिकायत की थी कि एक बालिका संदिग्ध परिस्थितियों में घूमते पाई जा रही है। जिसका कुछ लोगों द्वारा लगातार दैहिक शोषण किया जा रहा है। जिस पर आमगांव पुलिस ने बालिका को बाल कल्याण समिति के पास भेजा। यहां बालिका ने समिति को अपने साथ हुए शोषण की सारी जानकारी दी। उसने समिति को बताया कि कब कहां और किसने उसके साथ अत्याचार व उसका शोषण किया। जानकारी के अनुसार बालिका ने काउंसलिंग के दौरान बताया है कि उसका शोषण करने वालों में डायल 100 के कर्मी, विद्युत विभाग के कर्मचारी, अन्य स्थानीय व बाहरी व्यक्ति शामिल हैं।

एफआईआर दर्ज करने का निर्देश
समिति के सदस्यों ने बालिका की काउंसलिंग के दौरान जो तथ्य पाए उसकी सम्पूर्ण रिपोर्ट तैयार कर किशोर न्याय बोर्ड की प्रधान न्यायधीश स्वप्नश्री सिंह को प्रस्तुत की। जिस पर किशोर न्याय बोर्ड द्वारा तत्काल निर्णय लेते हुए किशोर न्याय अधिनियम 2015 की धारा 8 (3) के अंतर्गत थाना करेली को यह निर्देश दिया गया है कि मामले की जांच कर आरोपियों के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की जाए।

इनका कहना है
नाबालिग के शोषण को लेकर किशोर न्याय बोर्ड की प्रधान न्यायाधीश द्वारा करेली थाना को पत्र भेजे जाने की जानकारी मिली है पर अभी तक पत्र हमारे पास नहीं पहुंचा है। पत्र मिलते ही कोर्ट के निर्देशानुसार कार्रवाई की जाएगी।
नवल आर्य, थाना प्रभारी करेली