स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

hospital : पांच हजार बीमार, अस्पताल में भर्ती एक हजार

Sanjay Tiwari

Publish: Sep 12, 2019 00:04 AM | Updated: Sep 12, 2019 00:04 AM

Narsinghpur

जिला अस्पताल में एक पलंग पर भर्ती किए जा रहे दो मरीज

नरसिंहपुर। बारिश के इस मौसम में जिला मौसमी बीमारियों की चपेट में आ गया है। घर-घर लोग बीमार हो रहे हैं और उपचार के लिए डॉक्टरों के पास पहुंच रहे हैं। सरकारी अस्पतालों में भारी भीड़ के अलावा निजी अस्पतालों में भी लोगों की कतार लग रही है। जिला अस्पताल के आकड़े पर नजर डालें तो इस माह अबतक 5000 से अधिक लोग बीमारियों की चपेट में आकर यहां इलाज के लिए पहुंचे हैं। इनमें 1000 से अधिक लोगों को डॉक्टर ने भर्ती होकर इलाज करवाने की सलाह दी है।


दूसरी ओर जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या लगातार बढऩे के कारण अव्यवस्थाएं भी फैल गई हैं। ओपीडी, डॉक्टर से जांच करवाने, पैथॉलाजी लैब सहित दवा वितरण केंद्र में मरीजों की लंबी कतार लग रही है। आलम यह है कि घंटों बुखार में तप रहे मरीजों को खड़ा रहना पड़ रहा है। अस्पताल में डॉक्टरों के कक्ष के बाहर मरीजों के बैठने के लिए इंतजाम तो किये गए हैं, लेकिन वह नाकाफी है।
वार्ड में मरीजों के बिस्तर पर टपक रहा पानी- जिला अस्पताल में मेल वार्ड में बारिश का पानी घुस रहा है। यहां फर्श पर पानी जमा है तो वहीं मरीजों के बेड पर भी पानी टपक रहा है। ऐसी स्थिति में मरीजों और अस्पताल के कर्मचारियों को समस्या हो रही है। आलम यह है कुछ पलंग को हटाने व खिसकाने के लिए भी यहां जगह नहीं है।
मरीजों की बढ़ती संख्या का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि अस्पताल में एक बेड पर दो-दो मरीजों को भर्ती करना पड़ रहा है। कई वार्डों में जमीन पर गद्दे बिछाकर मरीज भर्ती किये गए हैं। अस्पताल गैलरी व बरामदे में भी मरीजों के लिए बेड लगाए गए हैं।

इनका कहना है
मरीजों की लगातार भीड़ बढ़ती जा रही है। अस्पताल में स्थान कम है। एक बेड पर दो-दो मरीजों को भर्ती करना पड़ रहा है। मेल वार्ड में बारिश का पानी जमा हो रहा है। बारिश बंद होते ही आवश्यक सुधारकार्य करवाया जाएगा। भीड़ अधिक होने के कारण अव्यवस्थाएं हो रही है। सुधार के प्रयास लगातार जारी हैं।
डॉ. अनीता अग्रवाल, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल