स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कुमरोड़ा एनकाउंटर की मजिस्ट्रियल जांच शुरु, पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

Abi Shankar Nagaich

Publish: Aug 20, 2019 23:01 PM | Updated: Aug 20, 2019 23:01 PM

Narsinghpur

एसडीएम ने मंगवाए दावे-आपत्तियां, एसडीओपी तेंदूखेड़ा ने गोटेगांव टीआई के दर्ज किए बयान

नरसिंहपुर . कुख्यात गैंगस्टर विजय यादव व साथी समीर खान के एनकाउंटर के बाद मंगलवार को पुलिस और प्रशासन ने विभिन्न स्तर पर मामले की जांच शुरु कर दी है। मजिस्ट्रियल जांच कर रहे एसडीएम महेश बमनहा ने घटना से संबंधित साक्ष्य और जानकारी के लिए चश्मदीदों से दावे आपत्तियां, बयान, साक्ष्य आमंत्रित किए गए हैं।
वहीं सुआतला थाना पुलिस ने मुठभेड़ में शामिल गोटेगांव थाना टीआई प्रभात शुक्ला के बयान दर्ज किए। तेंदूखेड़ा एसडीओपी मोहंती मरावी ने सोमवार रात गोटेगांव में शुक्ला के बयान लिए। शुक्ला ने बयान में बताया कि कोई भी बदमाश दो दिन पूर्व सरेंडर करने के लिए नहीं आया था। कोई उनके कब्जे में भी नहीं था। वे गोटेगांव से अकेले ही गए थे। मुठभेड़ में शुक्ला को कंधे में गोली लगी है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार
पुलिस को अब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिल सकी है। पीएम करने वाले डॉक्टरों के पैनल में शामिल सिविल सर्जन के भोपाल मेें विभागीय कार्यक्रम में होने की वजह से रिपोर्ट जारी नहीं की जा सकी। नियमानुसार पोस्टमार्टम करने वाले तीनों डॉक्टरों के हस्ताक्षर होने के बाद ही रिपोर्ट जारी की जाएगी। पोस्टमार्टम प्रक्रिया से जुड़े सूत्रों के अनुसार कथित मुठभेड़ में मारे गए बदमाशों पर काफी नजदीक से गोलियां दागी गई थीं।

विजय और समीर ने गाड़ी से उतर कर की थी फायरिंग
एसपी गुरकरण सिंह ने बताया कि पुलिस टीम ने बदमाशों की गाड़ी को ओवरटेक किया तो बदमाशों की गाड़ी पीछे रुक गई। इसी दौरान अचानक गैंगस्टर विजय यादव और समीर खान गाड़ी से बाहर निकले और पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस जवाबी फायरिंग में उलझी रही इसी दौरान काले रंग की गाड़ी आश्चर्यजनक रूप से चकमा देकर वहां से निकल गई।

काली गाड़ी की तलाश में नाकाबंदी
मुठभेड़ में शामिल काली गाड़ी अब तक पुलिस को नहीं मिल सकी है। पुलिस को उन बदमाशों की तलाश है जो मुठभेड़ के दौरान काले रंग की गाड़ी से भाग निकले। पुलिस के अनुसार उसमें अन्य बदमाश अथवा सिर्फ ड्रायवर हो सकता है। गाड़ी की खोज में जिले में कई जगह नाकाबंदी भी की गई है।

22 साल पहले भी हुआ था एनकाउंटर
जिले में 22 साल पहले भी एनकाउंटर किया गया था। गोटेगांव तहसील के पुलिस थाना ठेमी में तत्कालीन एसओ राजेन्द्र तिवारी के कार्यकाल में सांकल गांव में एनकाउंटर हुआ था जिसमें सांकल गांव निवासी नेतराम पटैल की मौत हुई थी।

वर्जन
मुठभेड़ में शामिल रहे गोटेगांव टीआई प्रभात शुक्ला के बयान दर्ज किए हैं। बदमाशों के कब्जे से जो देशी कट्टे जब्त किए गए हैं वे 32 बोर के हैं।
मोहंती मरावी
एसडीओपी तेंदूखेड़ा

वर्जन
जांच प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मृतकों के परिजनों और घटनास्थल के आसपास रहने वालों, पुलिस के बयान दर्ज किए जाएंगे।
महेश कुमार बमनहा
एसडीएम, मजिस्ट्रियल जांच अधिकारी

वर्जन
मुठभेड़ में मारे गए गैंगस्टर विजय यादव और समीर खान की पोस्टमार्टम रिपोर्ट अब तक प्राप्त नहीं हुई है। मुठभेड़ के दौरान बदमाश जिस काले रंग की गाड़ी में सवार थे वह नहीं मिल सकी है।
डॉ. गुरकरण सिंह, एसपी