स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

engineers : जन्म से ही इंजीनियर होता है मानव

Sanjay Tiwari

Publish: Sep 16, 2019 00:09 AM | Updated: Sep 16, 2019 00:09 AM

Narsinghpur

जन्म से ही इंजीनियर होता है मानव

नरसिंहपुर। मप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन जिला समिति द्वारा सरमोक्ष गुंडम विश्वेश्वरैया का 159 वा जन्म दिवस को अभियंता दिवस के रूप मे बरगी कालोनी में मनाया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ सर्वप्रथम विश्वेश्वरैया जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि इंजीनियर डीएस ठाकुर अधीक्षण यंत्री बरगी परियोजना, अध्यक्षता विष्णु रावत कार्यपालन यंत्री बरगी परियोजना, यूपी तिवारी महाप्रबंधक प्रधानमत्री सडक़ परियोजना सहित अन्य रहे।


इस दौरान अतिथियों ने कहा कि इंजीनियर विश्वेश्वरैया को निर्माण कार्य पर भारत रत्न दिया गया है। हमें उनके जीवन चरित्र को आत्मसात कर गुणवत्तापूर्ण कार्य करने पर जोर दिया गया। मानव जन्म से ही इंजीनियर होता है। प्रत्येक व्यक्ति मे इंजीनियर की विद्या पाईं जाती हैै।


अभियंता संघ के जिला अध्यक्ष केसी कोरी ने स्वागत भाषण दिया गया एवं जिले मे इंजीनियर चौराहे पर शीघ्र विष्वेष्वरैयाजी की प्रतिमा लगाने की बात कही। राजेश ठाकुर पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि प्रत्येक इंजीनियर के दिल में विश्वेश्वरैया जी है, केवल आवश्यकता है कार्य के प्रति लगन और समर्पण की हैं। एलके डहेरिया ने कहा कि एक अच्छे समाज के निर्माण के लिए इंजीनियर का योगदान बहुत महत्वपूर्ण होता हैै। भूिम के गिरते जलस्तर के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने घरों मे वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम की उपयोगिता पर प्रकाश डाला गया। इस अवसर पर इंजीनियर जीपी अठया, शैलेन्द्र श्रीवास्तव, पीएल अहिरवार, वीके झसिया, आरपी डहेरिया सहित अन्य मौजूद रहे।