स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घर में सोई महिला को नशीली दवा सुंघाई,  दिनदहाड़े चुराए गहने व नकदी

Sandeep Pandey

Publish: Sep 20, 2019 11:56 AM | Updated: Sep 20, 2019 11:56 AM

Nagaur

डेगाना. जिले के डेगाना उपखंड के गांव मिठडिय़ा में दो दिन से दिनदहाड़े चोरी करने वाली गैंग सक्रिय है। चोरों ने दो दिन दोपहर में दो अलग-अलग स्थानों पर लाखों रुपए के सोने-चांदी के गहने व नकदी चुरा ली।

डेगाना. जिले के डेगाना उपखंड के गांव मिठडिय़ा में दो दिन से दिनदहाड़े चोरी करने वाली गैंग सक्रिय है। चोरों ने दो दिन दोपहर में दो अलग-अलग स्थानों पर लाखों रुपए के सोने-चांदी के गहने व नकदी चुरा ली। पुलिस ने मामले दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू कर दी है। भंवरलाल खालिया ने बताया कि गुरुवार दोपहर में गांव के राजू सींवर के घर के सभी सदस्य खेत में काम करने गए हुए थे। घर में एक महिला दोपहर में सो रही थी। चोरों ने घर में दोपहर 1.25 बजे के सो रही महिला को नशीली वस्तु सुंघाकर या स्प्रे कर बेहोश कर दिया। बेहोश महिला के सिर में बंधा सोने का बोर काट लिया। घर में रखे बक्सों के ताले तोड़कर सोने-चांदी के गहने व नकदी चुरा ली। स्कूल गए बच्चे के अचानक घर आने पर चोर मौके से भाग गए। इससे पहले दिन बुधवार दोपहर को किसान हरिराम भाम्बू के घर में से चोरों ने 70 हजार रुपए व सोने-चांदी के लाखों रुपए के गहने चुरा लिए। दोनों ही घरों में दिनदहाड़े चोरी होने से ग्रामीणों में रोष है।

मौके पर पहुंचे ग्रामीण

गांव में चोरी की जानकारी मिलने पर परसाराम खालिया, रामनिवास चोयल, नाथूराम सींवर, भंवरलाल सींवर, दीपाराम तलवाड़ा मिठडिय़ा, विकास रॉयल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने चोरी के दोनों मामलों को लेकर रोष जताया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


नाडी में बालिका डूबी

मेड़ता सिटी. समीपस्थ बासनी सुमेर गांव में गुरुवार को अपने परिजनों के साथ मुस्कान (१०) पुत्री नजीर खेत गई थी। इस दौरान खेत के पास बनी नाडी से पानी लाते समय मुस्कान का पैर फिसल गया। जिस कारण डूबने से उसकी मौत हो गई। गोताखोरों की मदद से उसका शव बाहर निकाला गया। मुस्कान को डूबती देख उसकी मां भागी और खुद उसे बचाने के लिए नाडी में उतरने लगी। तभी अन्य लोगों ने उसे रोका। सूचना पर पुलिस के साथ मेड़ता सेवा भारती के कार्यकर्ता, मीरा तैराकी संघ के राजु दैय्या आदि वहां पहुंचे। करीब आधा घंटे की मशक्कत के बाद बालिका का शव निकाला गया।